Success चाहिए तो मैदान में टिके रहो

Success चाहिए तो मैदान में टिके रहो – दोस्तों कई लोग मुझसे हमेशा एक सवाल पूछते रहते है. की सर आपके हिसाब से Success या सफलता पाने का मूल मंत्र क्या है. तो मैने उन लोगो को जवाब दिया की हमेशा मैदान में ठीके रहना याने अपने काम को सदैव करते रहना जैसे एक खिलाडी अपने खेल में कभी हार नहीं मानता वो सदैव मैदान में बने रहता है, तो उसे एक ना एक दिन सफलता जरूर मिलती है. उसी तरह Real Life  में भी होता है, हमे भी अपने जीवन में कुछ करना है या कुछ पाना है अपने काम में Success होके आगे बढ़ना है.Success चाहिए तो मैदान में टिके रहोतो हमे भी हमेशा मैदान में डटे रहना है कभी बिच मे से भागना नहीं है तभी एक न एक दिन हमे भी सफलता मिल ही जाएगी. सफलता का रास्ता बहुत कठिन होता है, इसमें शुरुवात में बहुत असफलताएं मिलती है जो हमे कमजोर करने की कोशिश करती है कुछ लोग भी ऐसे मिलते है

जो हमे आगे बढ़ने से रोकते है पर एक सफल खिलाडी वही रहता है जो हर बाधा को पार करते हुए अपने काम में फेलियर होते हुए भी और उस फेलियर से सिख लेते हुए आगे बढ़ते जाता है और आगे चलकर सफलता की एक नई इबारत लिखता है.

तो Friends में आपको इस post में जो भी बाते समझाना चाहता हु, उसे अब में एक उदाहरण के माध्यम से समझाने वाला हु, जिससे आपको मैदान में टिके रहने का सही मतलब भी पता चल जायेगा.

Success चाहिए तो मैदान में टिके रहो”

मित्रो आप सब जानते है, हमारे देश के पांच राज्यों में हाल ही में विधानसभा चुनाव हुए, जिनमे मध्य्प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, और मिजोरम. तो मित्रो आपने देखा होगा इन राज्यों में Congress पार्टी ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया और तीन बड़े राज्यों मे कांग्रेस पार्टी अपनी सरकार बनाने में कामयाब रही.

दोस्तों में यहा एक बात साफ करदु की में यहा किसी पार्टी का समर्थन नहीं कर रहा हु, और मित्रो कांग्रेस के इस शानदार जित का सारा श्रेय जाता है. कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी को जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से अपनी पार्टी को जित दिलवाई मित्रो मुद्दे की बात यह है की जब से देश में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आयी है. तब से कांग्रेस पार्टी लगातार राज्यों में हारती जारही है.

और जब से राहुल गाँधी ने अपनी पार्टी की कमान संभाली है. तब से कांग्रेस हारती जारही है. और इसमें ज्यादा किरकिरी राहुल गाँधी की होती है. कांग्रेस की हार का कारण राहुल गाँधी को ही माना जाने लगा था. और लोग उनके जुमले बनाने लगे थे. मगर मित्रो हर बार की हार के बाद भी राहुल गाँधी ने हार नहीं मानी मतलब उन्होंने मैदान नहीं छोड़ा वो हमेशा अपने काम में डटे रहे,

हर तरह की बदनामी झेलते हुए उन्होंने अपना काम किया और उसमे आगे बढ़ते रहे और एक दिन उन्हें सफलता मिल ही गयी उनकी पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनावो में एक बेहतरीन जित हासिल करी और और इसका श्रेय राहुल गाँधी को जाता है.

तो दोस्तों कहने का मतलब यह है की यदि हम भी कोई काम शुरू करते है तो क्या हमे भी उसमे शुरुवात में सफलता मिलती है नहीं कुछ ही ऐसे लोग होंगे जिनको शुरुवात में Success मिलती होगी. पर जो व्यक्ति हर असफलता के साथ अपने काम में डटा रहता है मैदान नहीं छोड़ता है जिस तरह राहुल गाँधी डटे रहते है, तो उनको एक दिन सफलता जरूर मिलती है.

तो मित्रो यह थी post “Success चाहिए तो मैदान में टिके रहो” आपको कैसी लगी हमे जरूर बताये और में समझता हु, आप को मैने इस post के माध्यम से जो सन्देश दिया है. आप उसे जरूर समझे होंगे और अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए कभी हार नहीं मानेंगे और सदैव मैदान में टिके रहेंगे.

आप इस post से संबंधित अपने कोई भी सुझाव हमे Comments के माध्यम से भेज सकते है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.