क्या हम तक़दीर में लिखे हुए को मानते है

क्या हम तक़दीर में लिखे हुए को मानते है – दोस्तों  जैसा  की  आज  का  हमारा Topic है  “तकदीर याने मुक़ददर में लिखे हुए को मनना” तो  Friends  में  आपसे   पूछता  हु, की  क्या  आप  तकदीर या मुक़ददर को  मानते  है. तकदीर  को  मानना  मतलब  यह  होता  है. की  इंसान  कोई  काम  में  सफल  होने  का  ज्यादा  प्रयास  नहीं  करता  वो  ये  सोचता  है  की  जो  भी  तकदीर  में  लिखा  होगा  वोतो  मिलना  ही  है.क्या हम तक़दीर में लिखे हुए को मानते हैऔर वो हमसे कोई नहीं छीन सकता हमारी किस्मत का और  यही  सोच  इंसान  को  आगे  नहीं  बढ़ने  देती  और  उसको  सफलता  भी  नहीं  मिलती  मैने  दुनिया  में  और  अपने  आस – पास  और  यहा  तक  की  अपने  दोस्तों  को  भी  यह  कहते  सुना  है  की  जो  हमारी किस्मत में  लिखा  है  वही  होना  है.

मित्रो  तो  क्या  ये  मानना  चाहिए  और  माने  तो  क्यों  माने  और  नहीं  माने  तो  क्यों  नहीं  माने  और  अगर  आप  मुझसे  ये  पूछेंगे  की  क्या  आप  तकदीर या किस्मत में  लिखे  हुए  को  मानते  हो  तो  में  आपको  बताऊंगा  की  हा  मानता  हु,

पर  उसके  साथ – साथ  में  अपनी  मेहनत  या  काम  में  अपनी  लगन  पर  ही  भरोसा  करता  हु,  दुनिया  का  हर  इंसान  जो  अपने मुक़ददर पर  भरोसा  करता  है  उसे  अपनी  तकदीर  के  साथ – साथ  अपने  कर्म  अपने परिश्रम में भी  विश्वास  करना  होगा बिना परिश्रम के जीवन में कुछ हासिल नहीं किया जा सकता.

और  कुछ  लोग  ऐसे  भी  होते   है  जो  काम  तो  करते  है  बस  उसे  शुरू  करके  फिर  भगवान के  भरोसे  छोड़  देते  है, मानलो  एक  आदमी  ने  कोई  दुकान  खोली  और  उसकी  दुकान  जैसी  चलना  चाहिए  वैसी  चल  नहीं  रही  है, उसके  पास  ज्यादा  ग्राहक  नहीं  आते.

क्या हम तक़दीर में लिखे हुए को मानते है”

और  वो  दुकान  को  तकदीर एने किस्मत के  भरोसे  छोड़  देता  है. तो  क्या  ऐसे  में  उसकी  दुकान  चलेगी  नहीं  मित्रो दुकान  चलने   के  लिए  हमे  मेहनत  करना  होगी  और  आज  के  दौर  में  बहुत  competition है.

तो  हमे Market में हमारी  जगह  set करनी  होगी  हमे  कुछ  ऐसे  तरिके  निकालने  होंगे  जिससे  हमारी  दुकान  या  हमारा  बिजनेस  चले  आज – कल  offers का  दौर  है  और  हमे  भी  अपनी  दुकान  पे  offers देके  ग्राहकों  को  आकर्षित  करना  है. जिससे  हमारा  काम  तेजी  से  आगे  बढ़ता  जायेगा.

आपने देखा होगा की चाहे online बिजनेस होया चाहे कोई भी व्यपार सब में offers देना बहुत जरूरी है, क्योकि हमे अपने competitor से सस्ता और अच्छा सामान देना होगा तभी हम market में अपनी जगह set कर पाएंगे. तो हमे ऐसे ही कुछ काम करना होंगे. जिससे हमारा Business अधिक उचाई पर जाये.

और  दोस्तों  आप  इस  का  उदाहरण  एक school के  बच्चे  में  भी  देख  सकते  है.जैसे  मानलो  कोई   बच्चा  school जाता  है.  और  वो  अगर  वहा  पर  पढ़ाई  नहीं  करे  और  सोचे  की  जो  मेरी  तकदीर  में  होगा  वही  होना  है  वो  अपने  किस्मत लिखे  हुए  पर  भरोसा  करता  है  और  पढ़ाई  करना  बंद  कर  देता  है.

या  वैसी  नहीं  करता  जैसी  उसको  करना  चाहिए  और  इसका  परिणाम  यह  होगा  की  वो  बच्चा  अपनी  class में  फेल  हो  जायेगा  और  एक  ऐसा  बच्चा  है.  जो  अपनी  किस्मत में  लिखे  हुए  को  नहीं  देखता  मगर  पास  होने  के  लिए  कढ़ी  मेहनत  करता  है,  तो  उसको  अपनी  मेहनत  का  फल  भी  मिलता  है.

और  दोस्तों  ऐसा  भी  नहीं  है  की  तकदीर  में  लिखा  हुवा  कुछ  नहीं  होता  बिलकुल   होता  है.  पर  उसे  साबित  करने  के  लिए  भी  हमे   मेहनत  करनी  होगी. क्योकि  आप  ने  यह   देखा  होगा  की  यह  अमीरी  गरीबी  है.

और  में  आपको  बतादू  की  किस्मत  या  तकदीर  कहा  काम  आती  है  जैसे  आप  किसी  बड़े  आदमी  के  बेटे  है,  किसी  पैसे  वाले  के   तब  आप  जन्म  से   ही  करोड़पति  बनके  पैदा  होते  है  और  तब  आपको  अपनी  तकदीर  में  लिखा  मिलता  है.

और  वो  भी  बिना  मेहनत  के और  दोस्तों  मानलो  हम  किसी  ऐसे  परिवार  में  पैदा  हुए  है. जो  शुरू  से  ही  गरीब  हो  जिसके  पास  ज्यादा  पैसे  नहीं  हो  और  वहा  पर  ठीक  से  हमे  पढ़ने – लिखने  के  भी  पैसे  नहीं  है

और  अगर  हम  ऐसी  जगह  भी  अपने  मुक़ददर  में  लिखे  हुए  को  कोसे  की  मुझे  तो  भगवान  ने  बहुत  गलत  जगह  पैदा  किया  है, मेरी  तो  तकदीर  ही  खराब  है.

पर  दोस्तों  ऐसा  भी  नहीं  है  अभी  तक  दुनिया  में  ज्यादातर  लोग  सफल   हुए  है. वो  लोग  गरीब  background से  ही  निकले  है  और  उन्होंने  अपनी  तकदीर  में  लिखे  हुए  पर  भरोसा  नहीं  किया

और  अपनी  कड़ी  मेहनत  और  लगन  से  जीवन  में  सफलता  हासिल  करी  और  आज  दुनिया  के  सामने  उदाहरण  पेश  किया  और  मुझे  इन  लोगो  के  बारे  में  बताने  की  जरूरत  नहीं  है  आप  ने  सब  कुछ  सुना  होगा.

हम धीरूभाई अम्बानी को देखते है जिन्होंने Reliance Industry खड़ी की है, क्या उनका जन्म भी किसी अमीर घराने में हुवा था नहीं वो एक गरीब परिवार से थे और उन्होंने अपने जीवन में आगे बढ़ने के लिए कठोर परिश्रम किया पर आप सोचे की वो भी अपनी किस्मत के भरोसे बेठ जाते की जो होना होगा वो होगा

तो क्या आज हम उनका नाम सुनते या वो अपने जीवन में वो सब हासिल कर पाते जो उन्होंने हासिल किया है, तो आप यह जरूर ध्यान रखे की सफलता के रास्ते में लक के साथ – साथ मेहनत भी बहुत जरुरी है.

तो  दोस्तों  यहा  आपको  भी  अगर  अपने  जीवन  में  सफल  होना  है.  तो  अपनी  तकदीर  में  लिखे  हुए  पर  ध्यान  नहीं  देना  है  बल्कि अपनी तकदीर को खुद ही लिखना है और उसी हिसाब से जीवन में आगे बढ़ते जाना है.

बस अपने  काम  को  कड़ी  मेहनत  कठोर परिश्रम और  लगन  के  साथ  करना  है. और  एक  बात   आपको  जो  सफलता  मिले  आप  उसके  लिए  भगवान  को  जरूर  धन्यवाद  दे  क्यों की भगवान ही सब देने वाले है, हम तो सिर्फ करने वाले है.

तो  दोस्तों  आपको  ये  post “क्या हम तक़दीर में लिखे हुए को मानते है” केसी  लगी  please हमे  बताये  और  आप   भी  अपने  कर्मो  पर  भरोसा  करते  हुए  आगे  बढ़े  नाकि  अपनी  तकदीर या मुक़ददर में  लिखे  हुवे  को  देखेंगे बाकि सब भगवान पर छोड़ दे.

और आप इस post से Related अपने सुझाव हमे Comments के माध्यम से बता सकते है. हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.