Exam की Stress से अपने बच्चो को कैसे बचाये

Exam की Stress से अपने बच्चो को कैसे बचाये – Friends Exam याने  परीक्षाओ  का  दौर  चल  रहा है, और  यह  समय  हर  विध्यार्थी  के  लिए  बहुत  नाजुक  समय  होता  है, हर  बच्चा  चाहे  वो  किसी  भी  उम्र  का  हो  लड़का  हो  या  लड़की  हर  कोई  परीक्षा  के  नाम  से  ही  घबराने  लगते  है, और  खासकर  ऐसे  समय  में  बच्चो  के  माँ – बाप  भी  उन्हें  पढ़ाई  करने  का  प्रेशर  देते  रहते  है.

और  मित्रो  इस  प्रेशर  के  कारण  कई  बच्चे  अपने  दिमाग  में  Stress या Depression भरने  लगते  है, टेंशन  लेने  लगते  है  की  अब  मुझे  Exam देना  है  और  उसमे  मुझे  अच्छे  नंबरो  से  पास  होना  है, और  यही  सोच  उनके  मन  में Stress भरने  का  मूल  कारण  भी  होती  है.Exam की Stress से अपने बच्चो को कैसे बचायेदोस्तों  अक्सर  देखने  में  आता  है, की  बच्चो  पर  उनके  Teachers से  ज्यादा  उनके  parents उन  पर  पढ़ाई  का  दबाव  बनाते  है, मै  अक्सर  देखता  हु,  जिस  घर  में  बच्चो  की  परीक्षाएं  आने  वाली  होती  है.

वहा  उनके  माँ – बाप  उन पर  कई सारे  प्रतिबंध  लगा  देते  है, जैसे  टीवी  नहीं  देखना, खेलने  नहीं  जाना, किसी  दोस्त  से  बात  भी  नहीं  करना, घूमने  नहीं  जाना, Mobile को  हाथ  नहीं  लगाना, फिल्मे नहीं देखना, Cricket  नहीं  देखना  याने  हर  तरह  की Facilities  उनसे  ले  ली  जाती  है, और  उनको  बार – बार  याद  दिलाया  जाता  है, की  पढ़ाई  करलो  Exam आने  वाली  है.

और  बच्चो  को  अपने  parents की  यही  बात  बार – बार  सुन्ना  पढ़ती  है, और  मित्रो  जो  भी  parents अपने  बच्चे  को  पढ़ाई  के  लिए  Force करते  है, या  ज्यादा  Force करते  है, उनके  बच्चो  पर  इसका  गलत  effect पद  सकता  है,

याने  वो  अपने  मन  में  पढ़ाई  का  और  exam में  अच्छे  नंबर  लेन  का  तनाव  रखने  लगते  है  और  ऐसे  में  उनको  मेंटली  प्रेशर  बढ़ने  लगता  है. और  ऐसे  में  ज्यादा  नंबर  आने  की  बजाय  नंबर  और  कम  होने  लगते  है.

मित्रो  एक  study  में  भी  यही  पता  चला  है, की  आजकल  बच्चे  गलत  कदम  क्यों  उठा  रहे  है, याने  कुछ  बच्चे  अपना  घर  छोड़  कर  भाग  जाते  है, कुछ  तो  सुसाइड  तक  करने  की  कोशिश  करते  है.

और  इन  सबका  मुख्य  कारण  उनके  परेंट्स  को  ही  माना  गया  है, जो  अपने  बच्चो  से  जरूरत  से  ज्यादा  अपेक्षा  करते  है. दोस्तों  आजकल  के  माँ – बाप  अपने  बच्चो  के  report card को  अपने  status से  कम्पेयर  करते  है. याने  वो  सोचते  है  की  मेरे  बच्चे  को  मेरे  दोस्त  के  बच्चे  से  ज्यादा  नंबर  आना  चाहिए.

और  इसी  चाह में  parents बच्चो  पर  बे मतलब  का  प्रेशर  बनाते  है, और  इस  कारण  बच्चे  Stress में या Depression में चले  जाते  है. तो  Friends मेरा  ऐसे  सभी  माँ – बाप  से  यह  कहना  है, जो  अपने  बच्चो  पर  ज्यादा  नंबर  लाने  का  दबाव  बनाते  है, की  आपका  बच्चा  जिन्दगी में  क्या  करेगा  क्या  बनेगा  कितनी  सफलता  हासिल  करेगा  या  हासिल  करेगा  भी  या  नहीं  ये  उसके  Exam के  नंबर्स  पर  depend नहीं  करता.

Exam की Stress से अपने बच्चो को कैसे बचाये”

ऐसा  नहीं  है  की  परीक्षा  में  ज्यादा  नंबर  लाने  वाला  बच्चा  आगे  जाकर  प्रधानमन्त्री  बन  जाये  और  कम  लाने  वाला  बच्चा  सिर्फ  प्यून  ही  बने  नहीं  मित्रो  यह  इंसान  की  काबिलियत  पर  depend करता  है, की  वो  जिन्दगी  में  क्या  बनेगा  और  अपनी  जिंदगी  कैसे  जियेगा. हमें  उन पर  प्रेशर  नहीं  बनाना  है.

मित्रो हम जिस परीक्षा से इतना डरते है, वह क्या है, आखिर परीक्षा का महत्व क्या है– मित्रो परीक्षा वह है, जिससे इंसान के अंदर निखार आता है, परीक्षा या Exam के द्वारा हमें हमारी काबिलियत का पता चलता है.

जब तक एक Student परीक्षा नहीं देता तब तक उसे इस बात का पता नहीं चलता की उसने कितनी पढ़ाई करी है, जीवन में सफलता पाने का रास्ता ही परीक्षाओ से होकर गुजरता है, परीक्षा में पास होना या फेल होना मायने नहीं रखता बस परीक्षा में बिना डरे बैठना और उसका अनुभव लेना ज्यादा मायने रखता है.

तो  Friends अब  हम  इस  Article में  कुछ  ऐसे  उपाय  देखेंगे  जिससे  हम  अपने  बच्चो  को  परीक्षा  के  stress, टेंशन  से  बचा  सकते  है, और  उनका  Exam देने  में  सही  मार्गदर्शन  कर  सकते  है.

बच्चो पर प्रेशर बनाये –

मित्रो अपने बच्चो के मन में Exam में Stress आने का सबसे बढ़ा कारण होता है, parents का उन पर दबाव बनाना हर किसी के माता – पिता चाहते है, की मेरा बच्चा फस्ट डिवीजन में आये वो पुरे School में top करे और हमारा सीना गर्व से चौड़ा करे और इसी चककर में parents उसे बार – बार पढ़ाई करने का बोलते रहते है, और उसको Exam आने की टेंशन देते रहते है, तो अब हमे अपने में यह सुधार लाना होगा की हम अपने बच्चो पर किसी प्रकार का दबाव ना डेल उसे अपने तरिके से पड़ने दे.

बच्चो को अपने तरिके से पढने दे –

मित्रो अक्सर देखने में आता है की यदि हम कोई काम करे और कोई व्यक्ति हमारे ऊपर लठ लेकर खड़ा रहे तो क्या हम हमारा काम ठीक तरिके से कर पाएंगे मित्रो में तो नहीं कर पाउँगा, क्योकि हम हमारा काम हमारे तरिके से करते है.

उसी तरह बच्चे भी अपनी पढ़ाई – लिखाई अपने तरिके से करना बखूबी जानते है, और हमे हमेशा उनके पीछे नहीं लगा रहना चाहिए की तू ये कर वो कर उनका काम उनको उनके तरिके से करने दे ताकि वो फ्री माइंड अपनी पढ़ाई करते रहे. और किसी प्रकार की Stress से बच सके.

Time Management करे –

Friends कुछ Students का परीक्षा के दिनों में तनाव में आने का एक कारण यह भी होता है, की वो पुरे साल अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते याने पढ़ाई के लिए सही तरिके से समय सेट नहीं करते दिन भर सब काम करते है, पर study के लिए ही समय नहीं निकाल पाते और दोस्तों परिणाम स्वरूप जब परीक्षा का दौर आता है, तब उनको याद आता है, की अब तो पढ़ना पड़ेगा अन्यथा फेल हो जाऊंगा तो ऐसे में कुछ लोग डिप्रेशन में भी चले जाते है.

तो दोस्तों इस तरह के तनाव से बचने के लिए हर Students को शुरू से ही अपने Time का Management  करके रखना है की दिन में कब खाना है, कब पीना है कब खेलना है और कब सोना है, और जब हम सही समय पर अपनी study करते जायेंगे तो हम परीक्षा तक प्रिपेयर हो जायेंगे और बहुत आसानी से अपनी परीक्षा पास भी कर लेंगे.

पढ़ाई के लिए बेहतर माहौल बनाये –

दोस्तों जिस घर में बच्चे होते है, वहा का वातावरण बहुत ही शान्त होना बहुत जरुरी है, जिस घर में ज्यादा शोर शराबा या लड़ाई झगड़ा चलता है, वहा पर बच्चे अपनी Study सही तरिके से नहीं कर पाते और परिणाम स्वरूप उनके मन में Stress आने लगती है, तो हमे इस प्रकार के Stress से अपने बच्चो को सुरक्षित करना होगा, और अपने बच्चो को पढ़ने के लिए अच्छा माहौल बनाना चाहिए तभी आपके बच्चे ठीक से पढ़ पाएंगे और Exam में Top कर पाएंगे.

अच्छे नंबर लाने का दबाव –

मित्रो परीक्षा में Stress आने का सबसे बड़ा कारण होता है, अच्छे नंबर लाने का दबाव हर माँ – बाप सोचते है, की मेरा बच्चा सबसे आगे निकले और सबसे ज्यादा नंबर हासिल करे और वह उन पर इसका दबाव बनाते रहते है, मित्रो आज हम दुनिया में बड़े – बड़े successful लोग देखते है.

आप कुछ देर के लिए अपने दिमाग पर जोर डाल कर अभी जो दुनिया में सफल लोग है उनके बारे में सोचो की उन्होंने अपने जीवन में कितनी पढ़ाई करी है या कितने नंबर हासिल किये है, तो आपको खुद म खुद बात समझ में आ जायेगी और आप अपने बच्चो पर नंबर का दबाव भी नहीं बनाएंगे.

Positive (आशावादी) सोच अपनाये –

दोस्तों मैने कई बच्चो को देखा है, की वो Exam आने के पहले ही उसकी टेंशन रखने लग जाते है, की मैने अगर सही तरिके से पढ़ाई – लिखाई नहीं करी तो में पास हो पाउँगा या नहीं उनको हमेशा फेल होने का डर सताने लगता है, और यही डर उनको डिप्रेशन या तनाव में लेजाने का भी कारण बनता है.

इसलिए मित्रो यदि आप अभी Student हो और मेरे इस Article को पढ़ रहे हो तो आप हमेशा positive रहे हमेशा आशावादी रहे की जो होना है वो तो होके रहेगा कल की चिंता में अपना आज खराब नहीं करे हम कल की सोच – सोच कर आज ठीक से पढ़ भी नहीं पाते इसलिए हमेशा अपनी आशावादी सोच रखे और भविष्य की चिंता ना करे.

Break Exam की Stress से बचता है –

दोस्तों Break लेना हर समस्या का सही समाधान होता है, जो कोई भी इंसान कुछ काम करता है वो यदि बिना रुके काम करते जाता है तो वह एक समय पर थक जाता है, और आगे जाकर अपने काम को सही तरिके से नहीं कर पाता है, यदि वो थोड़ा रेस्ट लेकर कुछ समय बाद काम करे तो वो अपने काम को बेहतर कर सकता है.

तो Friends Students के लिए भी यही Policy मेटर करती है, यदि कोई Student दिन – रात सिर्फ पढ़ाई ही पढ़ाई करता जाता है तो उस पर इसका डिस इफ्फेक्ट भी पढ़ सकता है और इस कारण भी वह Stress में जा सकता है, तो में इस post के माध्यम से हर Students को यह संदेश देना चाहता हु, की आप पढ़ाई के साथ – साथ Break जरूर ले.

संतुलित पोस्टिक आहार खाये –

मित्रो अक्सर देखने में आता है, की जब कोई भी Student पढ़ाई करता है, तब वो अपने खान – पान पर बिलकुल ध्यान नहीं दे पाता. और इसका पढ़ाई पर विपरीत असर पढ़ता है, और कहते है ना की जब सेहत ही अच्छी नहीं होगी तो पढ़ाई कैसे अच्छी हो पायेगी.

इसलिए हमेशा संतुलित आहार खाये और इसका ध्यान parents को रखना होगा की उनका बच्चा Exam के दिनों में कैसा भोजन करता है, इस दौरान अपने बच्चो को जंक फ़ूड से बचाये, तेलीय और वसायुक्त आहार से बचे और समय – समय पर खाने का प्रयत्न अवश्य करे.

Body पर ध्यान दे याने एक्सरसाइज करे –

मित्रो परीक्षाओ के दिनों में तनाव से निपटने का सबसे आसान तरीका होता है, नियमित रूप से एक्सरसाइज याने व्यायाम करना, या योग करना, व्यायाम आपको मानसिक रूप से व शारीरिक रूप से फिट रखेगा. यह याद रखे की शारीरिक सक्रियता मानसिक तनाव को कम करने में मददगार होती है. इस लिए हमेशा व्यायाम और योग के लिए कुछ समय जरूर निकाले.

पर्याप्त नींद तनाव को करता है दुर –

मित्रो कई Students की यह आदत होती है, की वो पढ़ाई के दौर में दिन – रात सिर्फ पढ़ाई ही पढ़ाई करते रहते है, याने ठीक तरिके से सोते तक भी नहीं है. और परिणाम स्वरूप वो अनिद्रा के शिकार हो जाते है, और नींद ना आने के कारण वो तनाव से भी घ्रसित हो जाते है, और इससे उनकी Exam के Result पर भी असर पढ़ता है, और आप फेल भी हो सकते है.

तो दोस्तों आप पुरे साल समय का प्रबंधन करते हुए अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे ठीक तरह से नींद ले और यदि आप सही तरिके से सोयेंगे तो आप अपनी पढ़ाई भी ढंग से कर पाएंगे, और आप किसी प्रकार के Stress से भी बच पाएंगे तो अब से आप ठीक से नींद ले और तनाव को दुर करे.

मित्रो कई बार हमारे बच्चे Stress में आजाते है, पर हम उन पर उस समय ध्यान नहीं दे पाते तो मित्रो में अब आपको कुछ ऐसे points बताता हु, जिससे आप अपने बच्चे या किसी भी Students के तनाव में आने के संकेतो को आसानी से पहचान सकते है.

Stress पहचानने के संकेत –

पढ़ाई के वक्त ध्यान और एकाग्रता का सही ना होना.

Students में आत्मविश्वास की कमी.

बातचीत कम करना.

भूख ना लगना या अधिक भूख लगना.

नींद ना आना यानी अनिद्रा या उनींदापन का शिकार होना.

बच्चो का हर पल मूड बदलना.

सामाजिक सम्पर्क कम होना.

दोस्तों से सही व्यवहार नहीं रखना.

मित्रो किसी भी Students में परीक्षा के समय Stress या तनाव आने के कुछ और मुख्य कारण.

अधिक नंबर लाने का दबाव.

माता – पिता की बच्चो से ज्यादा अपेक्षा रखना.

दुसरो से Competition रखना.

दूसरे बच्चो से अपनी तुलना करना अपने दोस्त से या अपने भाई से या अपने पड़ोसी से.

अकेले छूट जाने का डर.

जीवन में आगे बढ़ने का दबाव.

किसी पोजीशन पर पहुंचने का प्रेशर.

Exam की Stress से कैसे बचे उसके  लिए में आपको कुछ और short उपाय बताता हु, जिसे आप आसानी से अपना सकते है, और बहुत ही आसानी से अपनी परीक्षा दे सकते है.

अपनी पढ़ाई की योजना बनाये.

Exam के समय और तारीख को ध्यान में रखे.

पाठ्यक्रम को विभाजित करे की कब क्या पढ़ना है.

एक समय सारणी तैयार करे और उसका पालन करे.

अपने लिए कम समय के लक्ष्य को निर्धारित करे.

समय – समय पर मनोरंजन का सहारा ले.

समय – समय पर छुट्टी ले और आराम करे.

अपनी योजना को नियमित रूप से समय – समय पर जांचते रहे.

अपनी प्रगति का हिसाब करे.

किसी Expert का सहारा ले.

सदैव Result के बारे में ना सोचे.

तो मित्रो अब आप इस post को पढ़कर यह बहुत बारीकी से समझ चुके होंगे की Exam या परीक्षा की Stress या तनाव से कैसे बचे, दोस्तों आज हमारे देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी बार – बार इस बात पर जोर देते है, की बच्चो को परीक्षा से बिलकुल भी घबराना नहीं है.

परीक्षा कोई अंतिम घड़ी नहीं है परीक्षा सिर्फ एक पड़ाव है आगे बढ़ने का यदि आप उसमे असफल भी होते है तो आप उससे अनुभव लेते है, इस लिए जो Students Exam में फेल भी हो जाते है तो वो भी अपने फेलियर से सीखते जाये और आगे जाकर अधिक मजबूती के साथ सफलता प्राप्त करे.

तो मित्रो यह थी post “Exam की Stress से अपने बच्चो को कैसे बचाये” आपको कैसी लगी कृपया हमें बताये और मित्रो मेरा अंत में Students से और उनके parents से यह संदेश देना है, की जीवन में Exam तो आती जाती रहती है, हमे उनका डट कर सामना करना चाहिए, परीक्षा में फेल होना या पास होना इससे हमारे आने वाले जीवन पर कोई फर्क नहीं पढ़ता आप परीक्षा से डरे नहीं और ना ही उसका Stress और तनाव रखे.

Friends आपको यह post कैसी लगी आप इस post से संबंधित अपने कोई भी विचार और सुझाव हमें Comments के माध्यम से भेज सकते है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.