अपने शरीर को व्यसन (नशे) से कैसे बचाये

अपने शरीर को व्यसन (नशे) से कैसे बचाये – दोस्तों इंसान का जीवन याने उसका शरीर बहुत कीमती होता है, इसे हमे किसी गलत आदत में पढ़के खराब नहीं करना है, गलत आदत से मेरा मतलब व्यसन (नशे) से है, कथावो में भी है, की कई योनियों के बाद हमे मनुष्य जीवन मिलता है, और Friends जब परमात्मा ने हमे इतना कीमती जीवन दिया है तो हम उसे गलत आदतों में पढ़ के क्यों खराब करे, हमे अपने शरीर को हर प्रकार के व्यसन से सुरक्षित रखना है.अपने शरीर को व्यसन (नशे) से कैसे बचायेदोस्तों मेने देखा है आज की दुनिया में बहुत से लोग अपना जीवन नशे या व्यसन की आदत में खराब कर रहे है, मैने तो ऐसे भी देखा है, यहा पर छोटे – छोटे बच्चे 10 – 12 साल की उम्रसे ही गुटका,  तम्बाकू, बीड़ी,  सिगरेट आदि पीने लगते है.

और लोग इन छोटी नशाखोरी के साथ – साथ अब लोग बड़े नशे भी करने लगे है, याने शराब, गांजा, भांग इत्यादि, और लोगो को इस प्रकार के नशे से खुद को सुरक्षित रखना होगा.

दोस्तों बच्चो में ये व्यसन की आदत अभी से लगना बहुत ही गलत बात है बच्चे देश का भविष्य होते है, और अगर बच्चो को नशे  की आदत लगेगी तो देश का आगे जाके नुकसान ही होना है.

मित्रो इन चीजों से हमारे वर्किंग और फेमेली मे भी बहुत गहरा असर पढ़ता है, और इंसान खुद भी व्यसन से अपने आपको धीरे – धीरे मार रहा है याने अंदर से खोखला होता जारहा है.

नशा करना बहुत ही बुरी आदत है जिससे हमारा शरीर धीरे – धीरे खत्म होता जारहा है, और हमे इसको रोकना होगा नशा किसी भी प्रकार काहो शरीर के लिए हानि कारक है, (चाहे छोटा हो या बढ़ा) और दोस्तों हम इससे शारीरिक आर्थिक और मानसिक सभी प्रकार से कमजोर होते है.

इसलिए Friends में आपसे कहु अगर आपको किसी भी तरह के नशे की आदत है,  तो आप उसे अभी से छोड़ दे और अगर एक बार में नहीं छूटे  तो आप उसे धीरे – धीरे छोड़ने की कोशिश करे और आपके परिवार में और आपके फ्रेंड सर्कल में या आपके वर्क प्लेस में किसी इंसान को अगर किसी भी प्रकार के व्यसन की आदत है तो उसे शरीर को व्यसन (नशे) से सुरक्षित करे.

अपने शरीर को व्यसन (नशे) से कैसे बचाये”

तो आप उसे भी समझाइये की ये सब कितना हानि कारक है, और उन लोगो से भी नशे की आदत छुड़वाए ताकि इससे सबकी जिंदगी बच सके दोस्तों नशा करने वाला इंसान कुछ देर का सुख पाके अपने आपको खुशकर सकता है, लेकिन वो ये नहीं जानता की धीरे – धीरे वो अपने शरीर को खत्म कर रहा है. इसलिए शरीर को व्यसन से बचाना बहुत जरुरी है.

मित्रो में आपको सबसे मजे की बात बताता हु, कुछ लोगो को मैने ये बात बोलते सुनी की हम अगर सिगरेट पिए, या तम्बाकू गुटका खाये, या शराब पिए इससे हमे स्ट्रेस से आजादी मिलती है, और हमारी टेंशन दूर होती है, और हम तरोताजा होते है, और इससे हमारा पेट वगेरा ठीक रहता है. कई लोगो की ऐसी धारणाये होती है.

दोस्तों मेरे ख्याल से ये हम इंसानो के बनाये हुए, ही नियम है की हम इस बात को कैसे स्वीकार करे याये की हम इस बात को कैसे पॉसिटिवली ले की हम नशा करते है.

या हममे गलत आदते है, ये इंसान की बहुत ही अच्छी आदत है, की उसे अगर नेगेटिव चीजे भी अपनानी होतो वो उन चीजों में भी फायदा ढूंढही लेता है, उसमे चाहे मै या आपही क्योंना हो हम भी ऐसा ही करते है.

लेकिन दोस्तों ये गलत बात है अगर हम कुछ गलत चीज कर रहेहे कोई नशा कर रहे है तो हमे उसे स्वीकारना होगा नाकि उसमे लाभ ढूंढ़ले और उसे अच्छा बताते चले नहीं ये गलत है ऐसा करके हम किसी और के साथ नहीं अपने आपके साथ ही बेमानी कर रहे है हम अपने परिवार के साथ बेमानी कर रहे है.

हम उन सब लोगो के साथ बेमानी कररहे है जोहम पर आश्रित है, तो दोस्तों ये गलत है, कुछ लोगो को गुटका खाने की लत होती है और उनका यह मानना होता है, की में गुटका खाकर कोई भी काम करता हु, तो उसको करने में मेरा अच्छा मन लगता है. पर मै इसमें विश्वास नहीं करता यह सिर्फ इंसान की नशे की आदत होती है.

मित्रो अगर इंसान ठानले तो क्या नहीं कर सकता अगर पुरे दृढ़ संकल्प के साथ चाहे, तो वो हर चीज छोड़ सकता है, चाहे कितनी भी पुरानी आदत है.

आप उसे छोड़ सकते  हो पर किसी और के कहने पे नहीं उसमे अपने आपको मजबूत होना होगा खुद का संकल्प लेना होगा की मुझे ये चीज नहीं करना है, ये गलत है, इसमें मेरे और मेरे परिवार का नुकसान है, मुझे ये सब छोड़ना है, और अपने आपको इससे सुरक्षित रखना है.

मै आपको एक बात और बताता हु, की हमारे घर में बच्चे होते है सभी के घर में होते है. तो मै आप से एक बात पुछू की आप या हम अपने बच्चो के सामने  किसी प्रकार का व्यसन या नशा करे तो उन पे इसका क्या असर पढ़ेगा.

दोस्तों मैने तो देखा है बच्चे जैसा देखते है वो वैसा सीखते है, हम जो काम करते है, तो उस काम को हमारे बच्चे भी सीखेंगे फिर चाहे वो गलत होया सही.

तो आप बताइये क्या आप ये चाहेंगे की आप के बच्चे भी बढ़े होके यही सब काम करे जो हम करते है, अगर आपका बच्चा मानलो School ही जारहा है, और आपसे कोई बोले अरे भाई तुम्हारा बच्चा आज दुकान पर सिगरेट पी रहा था, तो दोस्तों उस वक्त आपको केसा लगेगा तब आपके दिल पे क्या बीतेगी, और यदी हम नहीं सुधरे तो यह हमारे साथ होना सम्भव है.

दोस्तों मेरे भी बच्चे है और मुझे तो उस बात को सोचके ही डर लगता है, और बेशक आप भी ऐसा ही सोचेंगे की आपका बच्चा भी बढ़ा होके किसी प्रकार के नशे की गलत आदत मेना पढ़े.

तो इसके लिए हमे उसकी नीव आज सेही रखना होगी हमे आज सेही अपनी बुरी आदते छोड़ना होगी, और मै आपसे कहु नशे से कोई लाभ नहीं होता, दोस्तों हमे अगर अपने बच्चो को किसी भी आदत से बचाना है.

तो पहले हमे खुद ही घर मै या कहि भी सभी तरहे की नशे की आदत को छोड़ना होगा जिससे आप भी  सुखी रहे और आपके बच्चे भी और पूरा परिवार सुखी रहे.

दोस्तों अगर मै नशे के बारे मै लिखू तो और भी कुछ लिख सकता हु, पर मै आपके लिए आगे भी नशे के बारे मै बात करता रहुगा आगे मै आपको और नशे करने से क्या – क्या हानी है उस पर बात करुगा उसकी जानकारी दुगा.

तो दोस्तों आप को ये पोस्ट “अपने शरीर को व्यसन (नशे) से कैसे बचाये” केसी लगी please मुझे बताये और इसमें मैने आपको जो मेसेज देने की कोशिश करी है, मै समझता हु, आप उसे जरूर Follow करेंगे. दुनिया का ऐसा कोइसा भी ऐसा काम नहीं है, जो इंसान नहीं कर सकता, बस हमारे अन्दर दृढ़ संकल्प और पूर्ण निश्चय होना बहुत जरुरी है, यदी हम सोचले की हमे नशा नहीं करना है तो दुनिया की कोई ताकत हमे नशा नहीं करवा सकती.

और हमे आप के Comments का इंतजार रहेगा आप अपने Comments में माध्यम से मुझे नशेके बारे में आपके विचार बता सकते है, की क्या आपने अपने अन्दर की नशे की आदत को छोड़ी और उसके बाद आपका जीवन कैसा बीत रहा है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.