जीवन में Rejection से सीखे

जीवन में Rejection से सीखे – Friends क्या आप जानते है की Rejection या अस्वीकार क्या होता है और ये हमारे लिए या हमारी जिंदगी में क्या मायने रखता है, दोस्तों रिजेक्शन या फेलियर हमारी जिंदगी में बहुत मायने रखता है कई बार रिजेक्शन के द्वारा हमारी जिंदगी ही बदल जाति है और इससे इतर कई लोग Rejection से बाद खुद को संभाल भी नहीं पाते तो हमे क्या करना चाहिए.जीवन में Rejection से सीखेदोस्तों Rejection हमारी जिंदगी में कई तरह के होते है, सीदी भाषा में बताऊ तो रिजेक्शन या अस्वीकार का मतलब फेल होना होता है, पर परमानेंट नहीं रिजेक्शन के बाद हम फिर प्रयास कर सकते है, आपको बताता हु,  कैसे जैसे मानलो कोई लड़का या लड़की कही जॉब के लिए Interview के लिए जाते है.

तो दोस्तों अगर वो लड़का या लड़की उस जॉब Interview में अगर फेल हो जाये वो उस job के लिए Select ना हो तो वो होता है, रिजेक्शन मगर मैने पहले भी आप को बताया इस रिजेक्शन से हमारी जिंदगी नहीं  रुकने वाली है, हमे इससे अनुभव मिलता है. हम इसके बाद कही और प्रयास कर सकते है और वहा सिलेक्ट भी हो सकते है.

दोस्तों हमे फेलियर से सीखना चाहिए याने उससे अनुभव लेना चाहिए की हम क्यों Reject हुए और फिर उन टॉपिक्स को रिव्यू करके हमे दुगनी ताकत के साथ प्रयास करना चाहिए ऐसा नहीं की रिजेक्शन के बाद उदास होके बैठ गए और दोबारा प्रयास ही न करे हमे असफलता से जो सिख मिलती है.

वो सिख हमे सिलेक्ट होके भी नहीं मिल सकती और दोस्तों में आपको ग्यारेन्टी के साथ कह सकता हु, की जो सिख आपको असफलता के बाद मिलती है, वो आप सारी जिंदगी नहीं भूल सकते है, वो आपका अनुभव  बनती है वो रिजेक्शन की सिख आप को हर जगह याद रहती है, और आपको कुछ नया करने को प्रेरित करती है.

जीवन में Rejection से सीखे”

मानलो अगर आपने शुरू मेही अच्छी कोशिश करी और आप सिलेक्ट हो गये तो आप सफल तो हो गये आप को वो अनुभव नहीं होगा जो रिजेक्ट होने वाले को होगा, बस आप को वो job मिल जाएगी दोस्तों मैने देखा है, की लोग फेल होने के बाद इतना डिप्रेशन में चले जाते है की वापिस निकल ही नहीं पाते वो सोचते है की अब उनके लिए पूरी जिंदगी ही खत्म होगी  है.

पर दोस्तों मैने आपसे पहले भी कहा और फिर बोलूगा Rejection के बाद हमे अपने आपको संभालना चाहिए और कभी भी गलत कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे हमारा किसी प्रकार का नुकसान हो आप रिजेक्शन को बस एक ट्रायल समझे मित्रो आप ट्रायल का मतलब समझते है ना हम जब क्रिकेट खेलते है या देखते है, तो उसमे जो पहली बॉल फेकि जाती है उसे ट्रायल बॉल कहते है.

उस ट्रायल बॉल पे बेस्टमैन को आउट होने का कोई डर नहीं होता उसपे लगे तो भी ठीक ना लगे तोभी ठीक तो दोस्तों हमे भी हमारे जीवन में अगर कोई रिजेक्शन मिले तो ज्यादा सोचना नहीं है बस उसे ट्रायल बोल समझकर भूल जाना है, और अगले चांस का वेट करना है और उसमे सफल होना है.

और दोस्तों येतो एक बात थी, की इंसान नौकरी में Reject होता है, पर हमे हमारी जिंदगी में कई तरह के और कई  बार रिजेक्शन मिलते है अगर कोई लड़का शादी के लिए लड़की देखने जाता है तो जरुरी नहीं की लड़की को लड़का पसंद आये या कई और कारणो से लड़का रिजेक्ट हो जायेतो दोस्तों उस कंडीशन में भी हमे हार नहीं मानना है

हमे जीवन में और भी कई मोके मिलेंगे हम किसी और लड़की को देखेंगे और सबसे खास बात ये कि जो हमारे में कमी है हम उसे पूरी करेंगे कमी पूरी होने के बाद हमे कोई रिजेक्ट नहीं कर सकता और दोस्तों असफलता के बाद हमें ऐसा टुटा हुवा आशिक नहीं बनजाना है, कि उसके बाद नशा या कुछ और काम करने लगे  हमे अपने आप को संभाल के आगे बढ़ाना है.

और पुनः प्रयास करना है दोस्तों देखा आपने और भी कई तरह के रिजेक्शन हमारी लाइफ में आते है, मे भी जॉब करता हु, और मैने भी अपनी Life में कई Interview दिए है, और में भी ज्यादातर Reject या असफल ही हुवा हु.

पर में उन चीजों को सुधारने का प्रयास करता हु, जो मुझे Interview के दौरान पूछी जाती है, और , वो मुझे पता नहीं होती, आप भी अपने में जो कमिया है, उनको दूर करके असफलता से सीखे फिर सेकंड प्रयास करो

और दोस्तों खाली सेकंड ही नहीं जितने प्रयास हो उतना करते जावो कभी तो सफलता आप के हाथ जरूर लगेगी बस आप रिजेक्शन के बाद अपने आप को टूटने ना दे सम्भल कर रहे कुछ लोग शर्म के कारण ऐसा सोचते है, कि हम आगे रिजेक्ट होगये तो हम पे दूसरे हमारे दोस्त हसेंगे तो इसमें उनको दुःख और शर्म आती  है.

दोस्तों दुनिया जो सोचे उसे सोचने दो में आपसे फिर कहुगा असफलता से आपकी ही ताकत बढ़ेगी और आपको अनुभव होगा और आप अपने जीवन में कई चीजे सीखते जायेगे, यदि हम किसी दूसरे की सोचने की वजह से अगला प्रयास नहीं करेंगे तो हम व्ही रह जायेंगे याने जीवन में सफलता प्राप्त भी नहीं कर पाएंगे.

मित्रो हमे आपने जीवन में उस चींटी से सिख लेना चाहिए जो अपने से दुगने वजन का खाना लेके जाती है, आपने देखा होगा जब चींटी अपने मुँह में खाने का टुकड़ा लेके जाती है, जब वो चढाई चढ़ती है, तो उसके मुँह से खाने का टुकड़ा कितनी बार गिरता है, पर वह चींटी पुनः प्रयास करती है, और तब तक करती है जब तक सफलता प्राप्त ना करले.

तो हमे भी उस चींटी से सिख लेते हुए हमेशा प्रयास करते रहना चाहिए, चाहे हम भलेही एक बार गिर जाये याने असफल हो जाये पर एक बार की हार से जिंदगी खत्म नहीं होती हमे पुनः प्रयास करते हुए जीवन में सफलता हासिल करना है.

तो दोस्तों आपको ये post “जीवन में Rejection से सीखे” केसी लगी प्लीज़ मुझे बताये हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा , और में आशा करता हु, कि आप भी अब आपके साथ होने वाले Rejection से सिख लेते हुए आगे बढ़ेंगे असफलता से डरके नहीं बैठेंगे और आप अपने साथी अपने दोस्तों कोभी यही समझायेंगे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.