नवमी का महत्व

नवमी का महत्व
नवमी का महत्व
 
दोस्तों हैप्पी नवरात्रि
आज आप के लिए नवमी का महत्व के बारे में जानकारिया दे रहा हु, आप को जरूर पसंद आएगी
 
 
हिन्दू धर्म मेंनवरात्रि पर्व बढे धूमधाम सेम नाया जाता हे, यह पुरे नो दिन चलता हे
और नवमी के दिन इसका समापन होता हे !
इस दिन माँ दुर्गा के नोवे स्वरूप माँ सिद्ध रात्रि की पूजा आराधना की जाती हे , ऐसी
 
मान्यता हे की माँ सिद्ध रात्रि आदी शक्ति भगवती का रूप हे !
इसकी पूजा अर्चना करने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हे.
यह सभी सिद्धहियो को प्रदान करने वाली हे !

नवमी का महत्व”

इस दिन कन्यापूजन काभी महत्वहे , नवरात्रि पर  दोसे दस वर्षकी कन्यावो कापूजन विधान हे!
दो वर्ष कीकन्या को कुमारीकहा जाता हे, इसका पूजन करकेदुःख –  दरिद्रतादूर हो जाती   हे!
तीन वर्ष कीकन्या को त्रिमूर्तिकहते हे , त्रिमूर्तिपूजा से धर्म, अर्थ , काम कीसिद्धहि होती हे!
चार वर्ष कीबालिका को कल्याणीकहा जाता हेकल्याणीकी पूजा द्वाराविद्या , विजय तथासमस्त कामनावो कीपूर्ति होती हे!
पांच वर्ष कीबालिका को रोहिणी  कहतेहे , रोहिणी कीपूजा द्वारा अच्छेसवास्थ की प्राप्तिहोती हे , तथासब दुःख दूरहोते हे !
छहः वर्ष   कीकन्या को कलिकाकहा जाता हे, शत्रु का समनथा विरोधियो कोपरास्त करने केलिए कलिका कीपूजा की जातीहे !
सात साल कीकन्या को चण्डिकाकहते हे , इसके पूजन सेधनसम्पत्ति कीप्राप्ति होती हे!
आठ वर्ष कीकन्या को शांभवीकहा जाता हे, शांभवी  की  पूजा  द्वारा  निर्धनता  दूर  होती  हे, व्यक्ति को वादविवाद में विजयप्राप्त  होतीहे !
नो वर्ष कीकन्या को दुर्गाकहते हे , भक्तोको संकट सेबचाती  हे, कठिन कार्य को सिद्धकरती हे , इसकीपूजा करके साधकको किसी प्रकारका भय नहींसताता !
दस वर्ष कीकन्या को सुभद्राकहते हे , जोभक्तो  काकल्याण करती हे, इनकी पूजा सेलोकपरलोक दोनोंमें सुख प्राप्तहोता हे !
यह नो कन्याये दुर्गा की सक्छा त  प्रतिमूर्ति मानी जाती हे
.
कन्यावो को विधिवत तरिके से बुलावा दिया जाता हे और सुरुचिपूर्ण भोजन कराया जाता हे , नवमी के दिन चना, हलवा के प्रशाद का विशेष महत्व हे !
मूर्ति का विसर्जन
पूजा के बाद लोग पवित्र जल में माता की मूर्ति के विसर्जन का आयोजन करते हे !
भक्त अपने घरो को उदास चेहरे के साथ लौटते हे , और माता से  फिर से अगले साल बहुत से आशीर्वादों के साथ आनेकी प्रार्थना करते हे !
तो दोस्तों आपको ये पोस्ट नवमी का महत्व केसी लगी प्लीज़ हमे बताये

मातारानीआपकेसरेबिगड़ेकामबनायेऔरअगलेवर्षफिरसुखसमृध्दिलाये

धन्यवाददोस्तों

विजयपटेल

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.