हम नकारात्मक Thought से कैसे बचे

हम नकारात्मक Thought से कैसे बचे – Friends आज के युग में हर इंसान एक चीज से बहुत परेशान है या यु कहे की हर इंसान उसमे घिरा हुवा है, और वह है “नकारात्मकता” Negativity दोस्तों कहते है, नकारात्मकता इंसान का सारा जीवन अस्त – व्यस्त कर देती है और जिस किसी इंसान के मन में Negativity घर कर लेती है तो वह इंसान उसी बात में उलझा हुवा रहता है जिस कारण उसके मन में नकारात्मकता या बुरे विचार आते है.हम नकारात्मक Thought से कैसे बचेमित्रो अगर देखा जाये तो नकारात्मकता होती क्या है, या इसे कैसे परिभाषित किया जाये – अगर कोई मुझसे Negativity की परभाषा पूछे तो में कहुगा की Negativity या नकारात्मकता जैसी कोई चीज होती ही नहीं है, Negativity सिर्फ हमारे माइंड में चलने वाले वो बुरे या Negative Thoughts होते है, जो हम बिना कारण सोचते रहते है. याने ऐसे विचार जो हमारा दिमाग सोचता रहता है, या यु कहे की हमारे मन का एक तरह का डर जो हमारे मन में टेंशन के रूप में रहता है और हमारे मन में Negative Thoughts जेनेरेट होते रहते है.

और दोस्तों एक बार किसी के मन में नकारात्मकता आजाती है. तो उसे दूर करना बहुत मुश्किल हो जाता है, और वह इंसान उन्ही नकारात्मक विचारो में उलझा रहता है. और इसके फलस्वरूप इंसान को अन्य किसी भी कार्यो में नहीं लगता ऐसे इंसानो की ग्रोथ भी रुक जाती है.

मित्रो नकारात्मकता ऐसी चीज होती है जो किसी की Life मेतो ऐसी आती है की वो इंसान जीवन में आगे ही नहीं बढ़ पाता तो इस नेगेटिविटी से कैसे बचे ये मेरा निजी अनुभव है, जो में आपको बता राहारु जब इंसान अकेला हो, ( लेडीज़ , या जेंट्स ) फ्री बैठा हो कुछ काम नहीं कर रहा हो तब ही उसके दिमाग में नेगेटिव Thoughts (विचार) आते है.

अगर इंसान अपने आप को इंगेज रखे मतलब व्यस्त रहे तो उसका मन उस काम में लगा रहता है, और वो Negative से बच सकता है दोस्तों ये तो एक बात हुई, पर कुछ और भी कारण है Negative आने के कुछ लोगो का कुछ काम अटका रहता है तो वो उस काम के चक्कर में उलझे रहते है कुछ लोग फाइनेंशिअलि डिस्टर्ब होते है.

किसी को पारिवारिक problem होती है, तो ऐसे लोग positive नहीं हो पाते है इन लोगो का मन डिस्टर्ब रहता है. और एक बात यह भी सही है की इंसान के मन में किसी भी तरह की नकारात्मकता आने का जिम्मेदार खुद वही इंसान होता है याने अगर हम एक बार किसी चीज को आने देंगे उसे नहीं रोकते है तो वो बार – बार आती है ऐसे ही नकारात्मकता का भी है जब हमारे मन में पहली बार नकारात्मकता आती है

तब हम उसे नहीं रोकते और परिणाम स्वरूप वो हमे धीरे – धीरे घेर लेती है.
इसलिए हमे हमारे मन को खाली और positive रखना है बिना काम के फालतू विचार बिलकुल नहीं चलाना है और खुद को किसी भी काम में बिजी रखना है जब हमारा मन किसी काम में लगा रहेगा तब Negativity को भी नाने की जगह नहीं मिलेगी.

हम नकारात्मक Thought से कैसे बचे”

तो दोस्तों Negativity Thoughts से कैसे बचे इसके लिए हम अब इस post में हम कुछ points को देखेंगे और उनकी मदद से हम खुद को पोसिटिव रख सकते है.

1.  Meditation का सहारा ले –
दोस्तों Meditation नेगेटिविटी दूर करने का सबसे अच्छा उपाय है, हर इंसान को चाहे वो कोई भीहो उसे अपने दिन की शुरुवात Meditation से करना चाहिए सुबहे उठ के भगवान का नाम लेना चाहिए जिससे अपना पूरा दिन अच्छा गुजरे और Meditation से शरीर भी तरो ताजा रहता है और इंसान का पूरा दिन अच्छा गुजरता है, वो चिढ -चिढ़ा नहीं होता और उसका काम में भी ध्यान लगा रहेगा जिससे माइंड में नेगेटिविटी नहीं आएगी.

2. अच्छे लोगो से मिले –
हमें दुनिया में कई तरहे के लोग मिलते है रोजाना कई तरह के लोगो से मुलाकात होती है, और ज्यादातर तो हमें वही लोग मिलते है जो डेली मिलते है. जहा हम रहते है वहा के पड़ोसी मोहल्ले वाले और जहा हम लोग काम करते है वो लोग भी डेली मिलते है, और कुछ लोग हमे नए भी मिलते है इनकी संख्या कम होती है दिनमे दो या चार नये लोगो सेही मुलाकात होती है, तो दोस्तों कहने का मतलब मेरा बस यही है, की हमें पुरे दिन ऐसे लोगो के साथ समय गुजारना चाहिए जो पॉजिटिव हो अच्छी बाते करे और जो लोग निगेटिव रहते है वो आप कोभी वैसाही बनायेगे इसीलिए अच्छे लोगो से मिले.

3. Positive Work करे –
कई बार जो लोग जो काम कर रहे होते है, चाहे कोई नौकरी हो या बिजनेस या कोई दूसरा काम पर उसमे खुश नहीं रहते बोज समझ के काम करते है, तो मेरा ये मानना है की ऐसा काम छोड़ देना चाहिए जिसमे आप खुश नहीं रहते जो आपको करने में मजा नहीं आता और जब आप अपने पसंद का काम करेंगे तो जिंदगी में नेगेटिविटी नहीं आएगी और आप हमेशा पोज़िटिव रहेंगे.

4. मनोरंजन करते रहे –
नेगेटिविटी से कैसे बचे उसके लिए सब से मजेदार चीज ये है मनोरंजन Friends मनोरंजन इंसान के दिमाग को फ्रेश करता है, मनोरंजन कई प्रकार का होता है, जो आप को पसंद है आप वैसा मनोरंजन करो किसी को फिल्म पसंद होती है किसी को गाना सुनना पसंद होता है, तो किसी को क्रिकेट देखना तो किसी को खेलना पसंद है तो किसी को घूमना पसंद है, तो कहने का मतलब बस यही है मेरा की इंसान को कैसे भी करके खुश रहना चाहिए तो इससे आप नेगेटिविटी से बचे रहेंगे.

5. स्लीपिंग (नींद) –
इंसान के जीवन में ये बहुत बड़ा फेक्टर है, हमे रोज अच्छी नींद आनी बहुत जरुरी है चाहे दिन में पांच घंटे ही क्यों न सोये पर सोना बहुत ही जरुरी है, नहीं तो दोस्तों इससे इंसान चीड़ – चिड़ा बनता है अगर सही तरीके से नहीं सोये तो सोने से मनुष्य की सारी थकान उतर जाती है, और कुछ समय के लिए वह सारी नकारात्मकता भूल जाता है, और अपने शरीर को आराम मिलता है, और सुबहे फिर तरो तजा होके घर से निकलता है.

6. Financially strong –
इंसान को जीवन में सब से ज्यादा नेगेटिविटी निर्धनता से आती है, किवो गरीब है, दूसरे पैसे वालो को देख देख के जलता रहता है. बीवी बच्चो, परिवार की जरूरते पूरी नहीं कर पाता इसी लिए बहुत दुखी रहता है, तो हमे हमारे जीवन में ऐसे काम करना चाहिए की हम धीरे – धीरे Financially strong बनते जाये और हमारी निर्धनता खत्म हो जाये और जब हम पैसे वाले बन जाते है तब हमारे मन में किसी तरह का गलत संकल्प भी नहीं आता.

कुछ ऐसे और तरिके जिससे हम हमारे मन में आने वाले Negative Thoughts को रोक सकते है.

1. ऐसा कोई सा विचार जिसके आने पर हमारे मन में गलत विचार आते है उस विचार को बाद में कभी नहीं आने दे.
2. हमे अपने दिमाग को पूरी तरह काबू में रखना होगा और समय – समय पर उन विचारो को चेक करते रहना होगा.
3. किसी भी एक बात की फ़िक्र को अपने मन में कभी न रखे.
4. यह अवश्य याद रखे की जो होना है, वो होकर ही रखेगा उसके लिए हमे कोई टेंशन नहीं पालना है.
5. जब भी हमारे मन में कोई Negative Thought आये हमे उसे पीछे धकेलना है याने उसकी जगह कुछ अच्छे विचार अपने मन में लाना है.
6. हमे दिन भर ऐसे Thoughts चलाना है जिससे Negative Thought (नकारात्मक विचार)को आने की जगह ही न मिले.

तो Friends यह थी post “हम नकारात्मक Thought से कैसे बचे” में समझता हु, आप इस पोस्ट को पड़के जरूर इससे कुछ सीखेंगे और अपने जीवन में कभी नकारात्मकता को नहीं आने देंगे क्योकि नकारात्मकता किसी भी इंसान को पीछे धकेल देती है, उसे आगे नहीं बढ़ने देती और वह मेंटली बहुत परेशान होने लगता है हमे हमेशा खुश रहना चाहिए कभी कल की चिंता नहीं करना चाहिए जो होना है वह तो होना ही है बस अपने काम पर ध्यान देना है.

तो आप इस पोस्ट से संबंधी अपने विचार हमे जरूर भेजे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.