माता पिता पर अनमोल सुविचार

माता पिता पर अनमोल सुविचार – दोस्तों  कहते  है  की  इंसान  के  जीवन  में  भगवान  से  भी  पहले  जिसका  स्थान  होता  है  वो  होते  है  हमारे  माता – पिता  बड़े  ही  भाग्यशाली  होते  है  वो  लोग  जो  सदैव  अपने  माँ –  बाप  के  साथ  रहते  है  उनके  मार्गदर्शन  में  रहते  है. एक  बच्चा  जब  इस  दुनिया  में  आता  है  तो  वो  सबसे  पहले  अपनी  माँ  की  गोद  में  आंख  खोलता  है  और  एक  माँ  भी  अपने  बच्चे  को  अपनी  पलको  पे  बिठाकर  बड़ा  करती  है  उसकी  ऊँगली  पकड़कर  चलना  सिखाती  है  एक  पिता  भी  अपने  बच्चे  का  सहारा  बनता  है  वो  भी  उसके  साथ  खेलता  है  उसे  चलना  सीखता  है  अपने  कंधे  पर  बिठा  के  घुमाता  है.माता पिता पर अनमोल सुविचारइंसान  की  Life  में  कई  रिश्ते  बनते  है  पर  माँ – बाप  से  बढ़कर  कोई  रिश्ता  नहीं  होता  दोस्तों  हम  हमारे  जीवन  में  कुछ  भी  करले  कितने  भी  बड़े  बन  जाये  किसी  भी  पोजीशन  पर  क्योना  पहुंच  जाये  पर  हम  हमारे  परेंट्स  हमारे  माता – पिता  का  कभी  कर्ज  नहीं  उतार  सकते  और  हम  किसी  भी  उम्र  में  चले  जाये  जब  तक  हमारे  माता – पिता  है  तब  तक  हम  उनकी  नजरो  में  बच्चे  ही  बने  रहते  है.

कोई  बच्चा  जब  छोटा  रहता  है  तो  एक  माँ  को  उसका  बहुत  ख्याल  रहता  है  की  मेरे  बच्चे  ने  खाना  खाया  की  नहीं  दूध  पिया  की  नहीं  कहा  जारहा  है  किसके  साथ  जारहा  है  एक  माँ  को  उसकी  सदैव  बहुत  चिन्ता  लगी  रहती  है  क्योकि  वो  एक  माँ  है  और  माँ  की  नजरों  में  बच्चा  हमेशा  बच्चा  ही  रहता है.

और  मित्रो  जैसा  की  हम  एक  पिता  की  बात  करे  तो  पिता  भी  अपने   बच्चो  से  उतना  ही  प्यार  करता  है  जितना  की  एक  माँ  करती  है,  पर  फर्क  इतना  होता  है  की  पिता  अपने  प्यार  को  दिखाता   नहीं  है  वो इजहार  नहीं  कर  पाता  उसे  सदैव  अपने  बच्चो  के  सामने  कठोर  बना  रहना  पड़ता  है.

क्योकि  अपने  बच्चो  के  भविष्य  को  बनाने  के  लिए  पिता  को  कठोर  बनना  बहुत  जरूरी  होता  है.  दोस्तों  हम  जब  बचपन  में  रहते  है  या  जब  बड़े  भी  हो  जाते   है,  तो  हम  सोचते  है  की  हमारे  पापा सदैव  हमारे  ऊपर  चिल्लाते  रहते  है.

वो  मुझसे  प्यार  नहीं  करते  पर  ऐसा  नहीं  है  पिता  की  डॉट  में  ही  उसका  प्यार  छिपा  रहता  है  अगर  माँ  की  तरह  पिता  भी  अपना  प्यार  दिखाने  लगे  तो  बच्चो  का  भविष्य  खतरे  में  पड़  सकता  है  इसी   लिए  पिता  हमेशा  अपने  आप  को  कठोर  दिखाने  का  बहाना  करता  है  पर  उसकी  कठोरता  के  पीछे  भी  उसका  प्यार  छिपा  रहता  है.  और  मित्रो  कुछ  बच्चे  मेरी  इस  बात  से  एग्री  नहीं  होंगे  क्योकि   उन्होंने  प्रत्यक्ष्य  रूप  से  उनके  पिता  का  प्यार  नहीं  देखा  है.

पर  दोस्तों  में  आपको  एक  बात  बता  दू  की  आप  एक  पिता  के  प्यार  को  और  उसकी  अपने  बच्चो के  तरफ  भावना  को   तभी  पहचान  पाओगे  जब  आप  खुद  एक  बाप  बनोगे  और  बाप  बनने  के  बाद  ही  आपको  पिता  का  सारा  दाईत्व  समझ  में  आ  जायेगा  की  पिता  इतना  मजबूर  और  इतना  क्रोधी  और  अपने  बच्चो  को  क्यों  डाटता  रहता  है.

पिता  बनने  के  बाद  आप  खुद  ब  खुद  ही  समझ  जाओगे  तो  दोस्तों  कुल  मिलाकर  बात  सिर्फ  इतनी  है  की  इंसान  को  जीवन  में  अपने  माता  –  पिता से  ज्यादा  कोई  और  प्यार  नहीं  करता  तो  बच्चो  को  भी  हमेशा  अपने  माँ  –  बाप  के  प्रति  ईमानदार  रहना  चाहिए  उनकी  सदा  इज्जत  करना  चाहिए  और  मरते  दम  तक  उनका  ख्याल  करना  चाहिए.

माता पिता पर अनमोल सुविचार”

तो  मित्रो  अब  हम  इस  पोस्ट  में  माता  –  पिता  के  ऊपर  कुछ  अनमोल  विचार  (कथन)  देखेंगे  जिसे  पढ़कर  आप  अपने  माता  पिता  से  और  अधिक  प्यार  करोगे  और  उनकी  और  अधिक  इज्जत  करोगे.

1 – बच्चा कैसा भी हो पर उसे माता – पिता सदैव अपना राजा बेटा समझते है.

2 – ईश्वर का सबसे अनमोल तोहफा हमारे लिए हमारे माँ – बाप है.

3 – आप चाहे दुनिया की सारी दौलत क्योना कमालो पर अपने माँ – बाप का कर्ज कभी नहीं उतार सकते.

4 – अगर आप अपने माता – पिता का ख्याल नहीं रखते है तो हो सकता है, की कल आपके बच्चे भी, आपका ख्याल ना रखे.

5 – आपके माता पिता को सदैव आपके प्यार और सहयोग की जरूरत है.

6 – मित्रो समय अपने आपको सदैव रिपीट करता है यदि हम हमारे माँ – बाप को दुःख देंगे तो हमारे बच्चे भी हमारे साथ वही करेंगे.

7 – जिस घर में माता – पिता होते है उस घर को स्वर्ग कहते है.

8 – दोस्तों अपने बच्चो के लिए सारी दुनिया से जितने वाले माता – पिता अपने बच्चो से हार जाते है.

9 – कहते है, कुछ लोगो का प्यार कभी कम नहीं होता और उनमे से हमारे माता पिता भी एक है.

10 – कहते है, इस दुनिया में बिना स्वार्थ के सिर्फ आपके माता – पिता ही आपसे प्यार कर सकते है.

11 – कहते है जब माँ छोड़कर जाती है तब दुनिया में कोई दुआ देने वाला नहीं होता, और जब पिता छोड़कर जाता है, तब कोई हौसला देने वाला नहीं होता.

12 – मित्रो पहला प्यार कभी भुलाया नहीं जाता, पर न जाने क्यों लोग अपने माँ – बाप का प्यार भूल जाते है.

13 – जीवन के सारे रिश्ते निभाकर यह जान लिया हमने की माता – पिता से बड़ा और कोई रिश्ता नहीं होता.

14 – भुलाकर नींद सुलाया हमको, गिरा के आंसू हसाया हमको, दर्द कभी न देना उन लोगो को, खुदा ने माँ – बाप बनाया जिसको.

15 – उस इंसान से दोस्ती मत करो जो अपने माता – पिता से ऊँची आवाज में बात करता है, क्योकि वो अपने माता पिता की इज्जत नहीं कर सकता तो वो आपकी इज्जत कभी नहीं करेगा.

16 – रुलाना हर किसी को आता है, हसाना भी हर किसी को आता है, और जो रुला के भी खुद रो पड़े वो माता पिता है.

17 – है भगवान, बस इतना काबिल बनाना मुझे की, जिस तरह मेरे माँ – बाप ने मुझे खुश रखा, में भी उन्हें, बुढ़ापे में वैसे ही खुश रख स्कू.

18 – जिस घर में माँ – बाप की कदर नहीं होती है, उस घर में कभी बरकत नहीं होती है.

19 – सारी दुनिया छोटी पड़ जाती है, लेकिन भगवान का घर और माँ का आँचल कभी छोटा नहीं पड़ता.

माता पिता पर कुछ और अनमोल वचन –

20 – पिता की दौलत पर घमंड करने में क्या खुद्दारी है, मजा तो जब है जब दौलत अपनी हो और घमंड माता – पिता करे.

21 – माँ और पिता ऐसे होते है, जिनके होने का एहसास कभी नहीं होता, लेकिन ना होने का एहसास बहुत होता है.

22 – हमने जब धरती पर पहली साँस ली तब हमारे माता – पिता हमारे पास थे, माता – पिता जब अंतिम सास ले तब तू उनके पास रहना.

23 – कोई कहता है की अच्छे कर्म करोगे तो मरने के बाद स्वर्ग मिलेगा पर में कहुगा की माँ – बाप की सेवा करोगे तो जीते जी स्वर्ग मिलेगा.

24 – इज्जत भी मिलेगी, दौलत भी मिलेगी, सेवा करो माँ – बाप की जन्नत भी मिलेगी.

25 – फूल कभी बार – बार नहीं खिलते, जीवन कभी बार – बार नहीं मिलता, मिलने को तो सब लोग मिल जाते है, लेकिन हजारो गलतियों को माफ़ करने वाले, माँ – बाप नहीं मिलते.

26 – माँ की ममता और पिता की क्षमता  का अंदाजा लगाना भी सम्भव नहीं है.

27 – माँ एक ऐसी बैंक है, जहा आप हर बहाना और दुःख जमा कर सकते है और पिता एक ऐसे क्रेडिट कार्ड है, जिनके पास बेलेंस न होते हुए भी, सपना पुरे करने की कोशिश करते है.

28 – नोटों से तो बस जरूरते पुरे होती है, मजा तो माँ से मांगे एक रूपये के सिक्के में था.

29 – चाहे लाख करो तुम पूजा पाठ और तीर्थ करो हजार मगर माँ – बाप को ठुकरा कर तो सबकुछ जायेगा बेकार.

30  –  मंजिल दूर और सफर बहुत है, छोटी सी जिंदगी की फ़िक्र बहुत है, मार डालती ये दुनिया कब की हमे, लेकिन माँ की दुवाओ में असर बहुत है.

तो मित्रो यह थी पोस्ट “माता पिता पर अनमोल सुविचार” तो आपको यह पोस्ट कैसी लगी प्लीज़ हमे बताये और में समझता हु, की आप इस पोस्ट को पढ़कर अपने पेरेंट्स से और अधिक प्यार करोगे Friends मेरा आपसे यह कहना है की किसी के भी माँ – बाप हो उन्होंने अपने बच्चो के लिए बहुत दुःख और तकलीफे उठाई है

भलेही हमने वो नहीं देखि क्योकि माता – पिता अपनी तकलीफो का अपने बच्चो के सामने इजहार नहीं करते तो हमारा भी उनके प्रति यह फर्ज होता है की हम भी उनको हमेशा सुखी रखे,  उनको कभी दुःख ना पहुचाये,  उनकी आँखों में कभी आंसू नहीं आने दे,  और सदैव उनकी सेवा करते रहे उनके सामने सदैव बच्चे ही बनके रहे.

और आप इस पोस्ट से संबंधित अपने विचार हमे Comments के माध्यम से जरूर भेजे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.