क्या घडी किसी के साथ भेद – भाव करती है

क्या घडी किसी के साथ भेद - भाव करती है

 

क्या घडी किसी के साथ भेद – भाव करती है –  दोस्तों आपने यह तो सुना ही होगा की लोग एक दूसरे के साथ भेद – भाव करते है . और कुछ लोग ऐसा बोलते है की घड़ी  याने समय भी हमारे साथ भेद – भाव करता है . तो आज में आपको इस post  में बताऊंगा की क्या सही में घड़ी हमारे साथ भेद – भाव करती है .

 

दोस्तों हर इंसान यह सोचता है , की मेरा समय खराब चल रहा है . और क्या किसी का समय अगर खराब चल रहा है . तो उसमे किसी घड़ी की गलती हे क्या कोई घड़ी किसी का समय अच्छा या बुरा कर सकती है .मेरे हिसाब से तो यह सही नहीं है , की घड़ी हमारा समय खराब या अच्छा कर सकती है .

 

दोस्तों मेरे हिसाब से तो यह होता है , की इंसान का अच्छा या बुरा वक्त किसी घडी पर depend  नहीं रहता . वो इंसान के कर्मो पर depend  रहता है . की उसने अपने लिए कैसा रास्ता बनाया है , तो किसी ने अगर अच्छे कर्म किये होंगे तो उसके साथ अच्छा होगा और किसी ने अगर बुरे कर्म किये होंगे तो उसको आगे जाके ऐसे समय का सामना करना पड़ेगा .

 

और हम अगर घडी या समय की बात करे तो समय ने किसी के साथ भेद – भाव नहीं किया हर इंसान के जीवन में 24  घंटे  का दिन – रात होता है . या ऐसा है की किसी बड़े आदमी के पास ज्यादा समय है , और गरीब के पास कम समय है . ऐसा तो भगवान ने किसी के साथ नहीं किया है सब को बराबर समय दिया है . और हर इंसान की घड़ी भी बराबर समय दिखाती है . ये बात अलग है की हम उसे आगे रखते है या पीछे यह हमारे ऊपर निर्भर है .

 

और इंसान का अच्छा या बुरा समय किसी घड़ी पर निर्भर नहीं होता ये इंसान की मेहनत पर और इंसान अपने समय का किस प्रकार सदुपयोग करता है उसपर निर्भर होता है . हमे अपने को आगे बढ़ाने के लिए समय के साथ – साथ चलना है .

 

ना की समय के पीछे जो – जो भी लोग इस दुनिया  में success  हुए है , आप उन्हें देखे की वो समय का किस तरह सदुपयोग करते है . वो कितनी देर सोते है , और कितनी देर काम करते है .

 

क्या घडी किसी के साथ भेद – भाव करती है

 

और हमे फिर उसकी अपने से तुलना करनी चाहिए की हम कितनी देर सोते है , और कितनी देर काम करते है . ना की किसी घड़ी  या समय को दोष देना चाहिए . और आप ऐसा सोचते है की मेरी घड़ी सही नहीं है . तो आप अपनी घड़ी भी बदलकर देख लीजिये .

 

Also Read – कैसी है उड़ती चिड़िया की ज़िन्दगी

 

आप चाहे दुनिया की कोई सी भी घडी पहन लीजिये . आपका समय तबतक नहीं बदलेगा जबतक आप स्वयं नहीं प्रयास करेंगे . और दोस्तों घडी बदलने से इंसान का समय नहीं बदलता इंसान को अपने समय का सदुपयोग करके अपना समय बदलना होगा उसके साथ चलना होगा .

 

Also Read – हमें अपना दायरा बढ़ाना होगा

 

दोस्तों आपने देखा होगा की आपको कही जाना है . मानलो आपको 10  बजे स्टेशन पहुंच कर ट्रेन पकड़नी है और आप अगर 5  मिनिट भी लेट होगये तो ट्रेन चली जाएगी . तो आप क्या करेंगे अगर आप लेट उठे और आपको स्टेशन पहुंचने में देरी होगयी तो क्या इसमें आपकी घडी की गलती है .

 

Also Read – आज की मेहनत कल का सुख लाएगी

 

या आपकी खुद की बताइये मुझे तो हम अपनी गलतियों का दोस समय को देते है . की हमारा समय ठीक नई चल रहा है .

 

Also Read – Comfort Zone में रहने के 10 नुकसान

 

जैसे कोई School  का बच्चा है . और वो अगर अपनी पढ़ाई समय से नहीं करता और ऐसा करते – करते परीक्षा का दौर आजाता है . और  उसने पढ़ाई नहीं करी होती है . तो अन्त में वो फेल हो जाता है . तो यहा क्या हुवा क्या उसकी घडी को दोष दे या उसने पढ़ाई नहीं करी उसको दोष देना चाहिए .

 

Also Read – हम जीवन में कैसे फैसले लेते है

 

आप ही बताइये ?  उसका समय खराब होने का कारण क्या है . मेरे हिसाब से तो उस बच्चे की खुद की गलती है . जिसने समय का सदुपयोग नहीं किया और फेल हो गया तो यहा हम समय को दोस नहीं दे सकते .

 

Also Read – हम जीवन में किस्से जंग लड़ते है

 

इंसान अगर चाहे तो अपना अच्छा बुरा समय खुद ही सेट कर सकता है . याने अगर हम समय के साथ चलते है . तो हमारा सही होगा और समय के पीछे चलेंगे तो हमारा नुकसान होगा . और आज – कल तो लोग समय के आगे भागने की कोशिश करते है .

 

दोस्तों आपकी घडी तो बस आपको समय बता सकती है , और उस समय के साथ चलने का आपका काम है – की आप कितना अपने समय के साथ चलते है . और आप दुनिया का कोई सा भी काम करते हो . चाहे job  या चाहे Business  या चाहे खेती या कुछ और अगर आप को अपने काम में सफल होना है या सफलता पानी है . तो हमे अपने समय के साथ चलना होगा .

 

और आपने अगर दुनिया भर का काम भी कर लिया और आप फिर भी सफल नहीं हुए , तो इसमें आपकी ही गलती होगी ना की किसी घडी या समय की क्योकि समय कभी किसी के लिए रुकता नहीं है . वो आगे बढ़ता ही रहता है . हमे उसके साथ चलना होगा तभी हम जीवन में सफलता को प्राप्त कर सकते है . नहीं तो हम ट्रेन निकलने के बाद केवल अगली ट्रेन के आने का इंतजार करते रहेंगे और बस अपने समय को वेस्ट करते रहेंगे और अपनी घड़ी को दोष देते रहेंगे .

 

तो दोस्तों अन्त में मेरा आपसे बस यही कहना हे , की आप को और दुनिया के हर इंसान को भगवान ने एक जैसा समय दिया है . और उसी समय में हमे अपने समय को बिगाड़ना है या सवारना है , ये अपने  ऊपर निर्भर है . ना की हम किसी घड़ी  को दोष दे  घडी तो चलती रहेगी वो कभी बंद नहीं होगी आपको बस उसके साथ या आगे चलना है .

 

तो दोस्तों आपको यह post  ” क्या घडी किसी के साथ भेद – भाव करती है ” कैसी लगी pliz  हमे बताये और में आशा करता हु , की आपको मैने यहा जो – जो भी बाते बताई है . आप उनको जरूर Follow  करेंगे . और सदैव अपने समय का सदुपयोग करेंगे . और हमेशा आगे बढ़ने की सोच रखेंगे . और खुद को और दुनिया को भी आगे बढ़ाने की कोशिश करेंगे .

 

और आप इस post  से Related  अपने विचार और सुझाव हमे Comments  के माध्यम से भेज सकते है . हमे आपके Comments  का इंतजार रहेगा .

 

धन्यवाद

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.