क्या आप सुनते है दिल दियां गल्लां

क्या आप सुनते है दिल दियां गल्लां

 

क्या आप सुनते है दिल दियां गल्लां – दोस्तों इस post  में आज में आपको बताने जारहा हु , की ”  दिल दियां गल्लां ” का मतलब क्या होता है . इसका मतलब होता है, की दिल की बाते . और क्या हम हमारे जीवन में हमारे दिल की बाते या दिल की गल्लां सुनते है . और अगर नहीं सुनते है तो जरूर सुने .

 

दोस्तों इंसान अपने जीवन  में या यु  कहु की जीवन परियन्त जो काम करता है . तो क्या वो अपने दिल की सुनते है , क्या हम अपने दिल दियां गल्लां सुनते है . मेरे ख्याल से कुछ लोग तो जरूर सुनते होंगे मगर ज्यादातर लोग किसी के दबाव या किसी दूसरे की बाते सुनते है . और उसी हिसाब से आगे बढ़ते है , अपना काम करते है .

 

इस संसार में लोगो को राय देने वाले लोगो की कमी नहीं है. हम अगर हमारा काम करते है या हम से संबंधित कोई काम करते है तो लोग उसमे अपनी राय देने लगते है . जैसे  छोटी – छोटी चीजों में भी ऐसा होता है .

 

ज्यादा बढ़ी तो क्या बताऊ में आपको हम जब कपडे ख़रीदने बाजार जाते है और वहा से अपने लिए कपडे खरीद के लाते है . तो हमारे दोस्त या घर वाले उसमे भी हमे अपनी राय देने लगते है . की यह क्या ले आया तेरेपे बिलकुल अच्छा नहीं लग रहा है . कोई दूसरा colour  लेके आता और तमाम तरह की बाते बताते है . फिर अंत में होता क्या है , हम लोगो के दबाव में अंत में कपड़े Change  करवाते है .

 

और क्या हुवा हमे जो कपड़े अपने लिए पसंद आए थे उन्हें हम वापिस करते है . और लोगो की पसंद के पहनते है . तो इसमें हुवा क्या हमारे दिल ने जो हमारे लिए कपड़े पसंद करे थे या जिन्हे खरीदने में हमने हमारी दिल दियां गल्लां सुनी थी . वो हम छोड़ देते है , और हम हमारी दिल की सुनने के बजाय लोगो की बातो में आकर अपने दिल की नहीं सुनते और दूसरे के हिसाब से चलते है .

 

और दोस्तों यह काम बस यही तक नहीं रुकता हम चाहते तो है , की हम हमारे दिल की सुने मगर हमे कोई ऐसे करने नहीं देता . और बाद में फिर  हमारी शादी होती है हमारे घरवाले हमारे लिए लड़की ढूंढ़ते है .

 

क्या आप सुनते है दिल दियां गल्लां

 

पर दोस्तों आज भी हिंदुस्तान में ज्यादातर माहौल ऐसा है की लड़के – लड़की की शादी से पहले राय नहीं ली जाती है . बस घरवालों ने पसंद किया और हो गयी शादी .

 

भलेही हमारे दिल में कोई और है जिससे हम प्यार करते है . पर हमे वो नहीं मिलता हमे मजबूरन एक ऐसे इंसान  के साथ मिलकर अपनी Life  बितानी पड़ती है , जिसे हम जानते तक नहीं . पर यहा भी यही होता है की हमे दुसरो की ही सुनना पड़ती है .

 

दोस्तों एक ऐसा फैसला जो हमारे जीवन में बहुत मायने रखता है उसमे भी हमारी राय नहीं ली जाती . हमारा दिल कुछ कहता है पर कोई हमे हमारे दिल की सुनने ही नहीं देता . हम हमारे दिल दियां गल्लां नहीं सुन पाते और दूसरे लोगो के ही फेसलो में खुद को घुमाया करते है .

 

Also Read – कैसा था हमारा बचपन क्या आपको पता है

 

और हम थोड़ा और आगे बढ़ते है जम हम हमारी Life  में कुछ बनना चाहते है या कोई business  करना चाहते है , तो वहा भी लोग अपनी टांग अड़ा देते है . हमारा दिल हमे कोई काम करने का कहता है या हमे कोई ऐसा business पसंद होता है . तो हमे लोग उसमे भी अपनी राय देते रहते है .

 

Also Read – क्या हम खुद को कोसते है

 

हमे अपने पसंद का business या job  नहीं करने देते .

 

Also Read – जीवन में गुल्लक का महत्व क्या है

 

इंसान अपने दिन की सुनता है . की उसे कोनसा काम पसंद है . और उसे वो लोग करने नहीं देते और अपने घरवाले ही  हमे अपने पसंद का काम नहीं करने देते . कोई लड़का सोचता है की पढ़ाई पूरी करके कोई Business start  करू पर होता क्या है की हमे लोग बोलते है की चार लोग क्या कहेगे . पर कौन है वो चार आदमी लोग हमारे जीवन का फैसला लेने वाले .

 

Also Read – किसी को भी बिना मांगे सलाह नादे

 

हमे हमारे घरवाले बोलते है की तूने इतनी पढ़ाई करी और इतने पैसे लगाए और तू ये दुकान खोलना चाहता है , ऐसा करना था तो पढ़ाई ही क्यों करी इतने पैसे क्यों लगाए . और मजबूरन हमे हमारे दिल को ignore  करना पढ़ता है . और घरवालों की बातो को सुन के ऐसी job  करनी पड़ती है जिसमे हमारा मन नहीं लगता .

 

Also Read – हमे दुनिया मै क्या बाटना चाहिए

 

दोस्तों कुछ साल पहले एक Movie  आयी थी जिसका नाम था 3 Idiots  और यह Movie  हमे देखना चाहिए, यह बहुत इंस्पायर करती है , की हमे हमारे दिल की सुनना चाहिए . इसमें बखूबी ढंगसे दिखाया गया है , की इंसान पर किस तरह लोगो का दबाव आता है.

 

और वो अपने दिल की नहीं कर पाते . और अगर आपने अभी तक यह Movie  नहीं देखी है तो आप इसे एक बार जरूर देखे आपको इससे बहुत कुछ सिखने को मिलेगा . की हमे क्यों अपने दिल दियां गल्लां सुननी चाहिए .

 

और यहा केवल Movie  की बात नहीं है . इंसान को अगर अपनी Life  में खुश रहना है तो उसे अपने  दिल दियां गल्लां सुननी पड़ेगी और फिर वो किसी सामान खरीदने की बात होया शादी करने की या कोई Business  या job  करने की हमे खुश रहने के लिए अपने दिल की सुनना ही पड़ेगी . और आपने देखा होगा की ऐसे फैसले जो हम दुसरो के दबाव में आकर करते है बादमे हमे उनपर पश्ताना पड़ता है .

 

यातो हम को नौकरी छोड़ देते है या वो Business  बदल देते है . और कभी – कभी तो वो शादी भी टूट जाती है , जो हमने दुसरो के दबाव में आकर करी थी . तो दोस्तों जहातक हो सके हमे हमारे जीवन के फैसले हमारे दिल की सुनके ही लेना है . और कुछ समय ऐसा भी आता है . की जब मजबूरी होती है, की अब तो हमे ऐसा ही करना पड़ेगा तो वहा करिये मगर जहा . हम करसकते है वहा अपने दिल की सुनकर ही करना है .

 

जैसे मेने आपको post  में ऊपर बताया था की इंसान अपने कपड़े लाता है, तो दसरो के दबाव में आकर उन्हें change  करवा देता है , तो अब आप यहा तो अपने दिल की सुन ही सकते है . भलेही लोग कुछ भी बोले उसकी परवा ना करे एक दो दिन बोलके चुप हो जायेगे . मगर हम तो खुश रहेंगे . अगर हम हमारे दिल दियां गल्लां सुनेगे . तो हमे तो अपनी पसंद के कपड़े पहनने को मिलेंगे .

 

दोस्तों अब आप जीवन में fix करले की कोई भी काम अगर आपको करना है . तो उसमे आप लोगो की परवा करे बगैर करेंगे  हमे दुसरो के कहने ना कहने पर  कोई फर्क नहीं पढ़ना चाहिए . बस  हमे वही काम करना होगा . जो हमारा दिल कहे . मगर दोस्तों एक बात और ध्यान रखो की आप समझो की हमने तो पड़ा था .

 

की हमारे दिल में जो आए वो करना है , तो हमे तो शराब पीना है हमारा दिल कर रहा है . नहीं ऐसे मामलो में अपने दिल की भी ना सुने जिससे कोई नुकसान हो जो हमारे शरीर के लिए ठीक नहीं है . और बाकि कामो में अपने दिल दियां गल्लां जरूर सुने .

 

तो दोस्तों आपको यह post  ” क्या आप सुनते है दिल दियां गल्लां ” कैसी लगी pliz  हमे बताये और में चाहता हु , की आप मेरे द्वारा बताई गयी बातो को जरूर Follow  करे और अपनी Life  में कोई भी फैसला अपने दिल की सुन कर ही लगे . किसी के दबाव में आकर नहीं और अगर आप ऐसा करेंगे तो आपको जीवन में सफलता जरूर मिलेगी .

 

और दोस्तों आप हमे इस post से related अपने सुझाव हमे Comments के माध्यम से बता सकते है हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा .

 

धन्यवाद

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.