क्या आप जानते है देश प्रेम का अर्थ

क्या आप जानते है देश प्रेम का अर्थ – दोस्तों  अपना भारत  देश  15  अगस्त  सन 1947  को  आजाद  हुवा  हमे  स्वतंत्रता  मिली  और  अब  आजादी  को   लगभग  70 साल  का  वक्त  गुजर  गया  है. और  आज  हमारी  post  का  मैन Motive है  देश  प्रेम  अपने  राष्ट्र  के  प्रति  सच्ची  निष्ठा  तो  क्या  होता  है

क्या आप जानते है देश प्रेम का अर्थ

देश  प्रेम  कोई  मित्रो अगर  आपसे  कोई  पूछे  की  आप  अपने  देश  से  प्रेम  करते  हो  तो  आप  बड़े  गर्व  से  कहेगे  की  जी  हा  मुझे  मेरे  देश  से  बहुत प्यार   है  पर  दोस्तों  बोलने  में  और  करने  में  बहुत  फर्क  है. तो  आज  हम  इस  post में  सही  मायने  में  देश  प्रेम  क्या होता  है  देखेंगे.

 

दोस्तों  जब  हिंदुस्तान  गुलाम  था  तो  उस  वक्त  लोगो  ने  सही  मायने  में  देश  प्रेम  दिखाया  और  अपने  खून  पसीने  से  अपनी  जान  की  बाजी  लगाकर  अपने  देश  को  आजादी  दिलवाई  जिन – जिन  भी  स्वतंत्रता  सेनानियों  ने  भारत  देश  को  आजादी  दिलाई  वो  सही  मायने  में  देश  प्रेम  था.  जो  इंसान  सच  में  अपने  देश  के  लिए  सोचता  है  कुछ  कर  गुजरने  की  सोचता  है. जिसमे  वो  ना  खुद  को  देखता  है  ना  अपने  परिवार  को  देखता  है  ना  खाना  खाता  है  ना  पानी  पिता  है. बस  अपने  देश  के  लिए  पूरी  ईमानदारी  के  साथ  काम  करता  है.

पर  दोस्तों  क्या  आप  जानते  है  की  आज  हमारा  हिन्दुस्तान  आजाद  है  आज  देश  हमसे  हमारी  जान  नहीं  मांगता  आज  हमे  अपने  देश  के  प्रति  देश  प्रेम  दिखाने  के  लिए  दूसरे  काम  करना  होंगे  देश  के  प्रति  ईमानदार  रहना  होगा. दोस्तों  एक  देश  को  बनाने  में  देश  के  हर  व्यक्ति  का  योगदान  रहता  है. देश  में  एक  वैज्ञानिक  का  भी  बहुत  महत्व  होता  है  और  उसी  देश  में  एक  किसान  का  भी  बहुत  महत्व  होता  है. वैज्ञानिक  अपने  शोध  के  द्वारा  देश  को  आगे  बढ़ाता  है  उसी  तरह   किसान  को  भी  अन्नदाता  कहा  जाता  है. जो  सबकी  भूख  बुझाता  है  और  दोस्तों  मैने  यह  जिन  दोनों  का  उदाहरण  दिया  वो  दोनों  ही  अपने  देश  के  प्रति  ईमानदार  है  दोनों  के  अंदर  देश  प्रेम  है.

 

और  मित्रो  मैने  आपको  यहां   दो  लोगो  का  उदाहरण  दिया  पर  ऐसा  नहीं  है  देश  का  हर  एक  व्यक्ति  जो  अपना  काम  पूरी  ईमानदारी  निष्ठा  के  साथ  करता  है  वो  अपने  देश  से  प्यार   करता  है. एक  बहुत  बड़ा  बिजनेस  मैन  भी  देश  प्रेमी  है  और  एक  ठेला  चलाकर पेट  भरने  वाला  भी  अपने  देश  से  प्यार  करता  है. दोस्तों  देश  प्रेम  का  अर्थ  यह  नहीं  की  हम  ऐसा  दिखाए   की  मुझे  मेरे  देश  से  बहुत  प्यार  है.

जैसे  कभी  भारत  पाकिस्तान  का  cricket match हो  और  हम  अपनी  team का  बहुत  जोर – शोर  से  स्पोर्ट करे  नारे  लगाए  झंडा लेकर  रोड  पर  घूमे क्या तभी  होगा  देश  प्रेम  नहीं  दोस्तों  हमे  देश  के  प्रति  अपना  प्रेम  लोगो  को  दिखाना  नहीं  है. हमे  अपने  देश  के  लिए  कुछ  करके  दखाना  है  तब  सही  मायने  में  देश  प्रेम  का  अर्थ  होगा.

 

क्या आप जानते है देश प्रेम का अर्थ”

 

दोस्तों  जैसे  हम  अपने  माँ – बाप  से  अपने  परिवार  से  अपने  घर  से  प्यार  करते  है  उसी  तरह  हमे  अपने  देश  से  भी  प्यार  करना  होगा  आप  कभी  अपने  घर  की  कोई  चीज  तोड़ते  है,  क्या  नहीं  ना  उसी  तरह  हमे  अपने  देश  की  धरोहरों  को  भी  संभालकर  रखना  है  उन्हें  बचाना  है. दोस्तों  जैसे  लोग  अपने  घरो  की  सफाई  करते  है  उसे  साफ  स्वच्छ  रखते  है  अपने  घर  मे  हम  कोई  गंदगी  नहीं  होने  देते  तो  क्या  हम  उसी  प्रकार  से  अपने  देश  की  सार्वजनीक  जगहो  की   साफ – सफाई  करते  है.

 

आप  सार्वजनीक  जगहो कि  साफ  – सफाई  भलेही  ना  करे  पर  उन्हें  गंदा  भी  ना  करे  लोगो  को  मैने  देखा  है  कभी  हम  लोग  कहि  घूमने  जाते  है  किसी  सार्वजनीक  place  पर  या  किसी  मंदिर  पर  या  किसी  पिकनिक  स्थल  पर  तो  लोग  वहां  भी  बहुत  गन्दगी  करके  आते  है  तो  अब  यदि  हमे  देश  प्रेम  का  सही  अर्थ  समझना  है  तो  हमे  इन  आदतों  को  छोड़ना  पड़ेगा और अपने देश को हर तरह से साफ स्वच्छ और सुरक्षित रखना होगा.

दोस्तों  जैसे  हमारे  देश  की  आर्मी  देश  की  सीमावो  पर  खड़े  होकर  देश  की  सुरक्षा   करती  है. सही  मायने  में  वो  देश  प्रेम  है, और  कुछ  लोग  यह  भी  बोलते  है  की  army को  तो  इसके  पैसे  मिलते  है, तो  में  ऐसे  लोगो  से  बोलता  हु  की  उनको  पैसे  मिलते  है  तो  आप  जाके  देखलो  अपने  बच्चो  को  भेजो  और  आप  डबल  पैसे  लेके  वहां  सरहद  पर  खड़े  होके  देखो  तो  ये  लोग  बिलकुल  मना  कर  देंगे.

 

दोस्तों  सही  मायने  में  देश  प्रेम  का  अर्थ  वह  होता  है, की   देश  के  कण – कण  में  देश  प्रेम  बसा  हो  लोगो  की  आदत  में  देश  प्रेम  हो  इंसान  अपने  काम  से  पहले  अपने  राष्ट्र  को  रखे  जरूरत  पढ़ने  पर  अपने  देश  के  लिए  अपने  प्राण  तक  न्योछावर  कर  दे  हमे  अपनी  माँ  और  मात्र  भूमि  को  एक  समान  सम्मान  देना  है.

 

हमे  बचपन  से  ही  फिल्मे  देखने  का  बहुत  शोक  है  और  मित्रो  फिल्मे  समाज  का  आईना  होती  है  किसी  भी  बात  को  बताने  या  समझाने  का   सबसे  अच्छा और सरल  तरीका  फिल्म  ही  होता  है  जैसा  लोग  फिल्मो  में  देखते  है  वैसा  वो  अपने  जीवन  में  भी  बदलाव  लाने  लगते  है. तो  दोस्तों  मेरा  आपको  यह  बाते  बताने  का  मतलब  यही  है  की  हमारे  देश  में  देश  भक्ति  के  ऊपर  बनने  वाली  फिल्मे  हमे  देखना  चाहिए और उनसे अपने देश के प्रति  भक्ति  और  प्यार  सीखना  है.

 

दोस्तों देश प्रेम का अर्थ वह होता है, की देश की निर्जीव वस्तुए भी अपने देश के काम आने की सोचे मतलब  देश का लोहा देश के पेड़ देश की लकड़ी और देश की हर एक चीज अपने देश के प्रति काम आए लोहा यह सोचता है,  की मैं मुझे ऐसे हथियार बनाने के काम में लिया जाये की जिससे देश की सरहद पर दुश्मनो को खत्म किया जाये लकड़ी सोचती है. की मुझे भी इस तरह से काम में लिया जाये की देश में जो गरीब है उनका घर मेरे द्वारा बनाया जाये और जो – जो भी ऐसी चीज है जो देश के काम आए उसके वो मुझसे बनाया जाये.

दोस्तों में आपको एक कविता बताने जारहा हु, जिसमे एक पुष्प याने (फूल) अपने देश के प्रति क्या सोचता है, शायद आपने यह कविता पहले भी सुनी हो पर आपको इसमें एक पुष्प की अपने देश के लिए देश भक्ति नजर आएगी.

 

दोस्तों इस कविता के रचयता है – माखनलाल चतुर्वेदी : –

 

चाह नहीं मैं सुरबाला के, गहनों में गुँथा जाऊ

चाह नहीं, प्रेमी – माला में, बिंध प्यारी में ललचाऊं

चाह नहीं, सम्राटो के शव पर, है हरि, डाला जाऊ

चाह नहीं, देवो के सिर पर चढू, भाग्य पर इठलाऊ

मुझे तोड़ लेना वनमाली, उस पथ पर देना तुम फेक

मातृभूमि पर शीश चढ़ाने, जिस पर जाये वीर अनेक

 

तो दोस्तों देखा आपने इस पोस्ट में हमे किस तरह देश प्रेम दिखाना होगा आप कुछ भी करे अपने जीवन में कोई भी काम करे पर अपने देश का नाम कभी खराब नहीं होने दे याद रखिये एक – एक व्यक्ति से भी बहुत फर्क पढ़ता है आप यह कभी ना सोचे की मुझ अकेले से क्या होगा आप हमेशा पॉजिटिव सोच के साथ अपने देश को आगे बढ़ाये.

 

तो दोस्तों यह थी post ” क्या आप जानते है देश प्रेम का अर्थ ” मुझे लगता है आपको इस post  में बताई गयी बाते जरूर पसंद आएगी और आप इन्हे अपने जीवन में जरूर Follow करेंगे और हमेशा अपने देश से प्यार करेंगे.

 

और आप इस post  से संबन्धित अपने कोई भी विचार या सुझाव हमे अपने Comments  के माध्यम से भेज सकते है.

Also Read

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.