कौन है अवनी चतुर्वेदी

कौन है अवनी चतुर्वेदी

 

दोस्तों हमारे देश हिंदुस्तान मै सब की सोच ऐसी है . की महिलाये केवल घर गृहस्ती ही संभाल सकती है . और हमारे देश मै महिलाओं  को हमेशा हर काम से पीछे ही रखा गया . उन्हें कोई ऐसा बड़ा काम या यु कहु  की पुरुषो  वाला काम दिया ही नहीं गया . मगर दोस्तों ऐसा नहीं है . की महिलाये पुरुषो से पीछे रहती है नहीं .

 

अब दौर बदल चूका है , अब महिलाये पुरुषो के साथ कदम से कदम मिलाकर चलती है . उनसे किसी भी काम मै पीछे नहीं है . चाहे job  करना हो या  Business  करना हो या लड़ाकू विमान उड़ाना हो आज हमारे देश की महिलाये किसी भी पुरुष से पीछे नहीं है . और मेतो कहु की महिलाये पुरुषो से और दो कदम आगे बढ़ रही है . उनके द्वारा किया गया काम पुरुषो से अच्छा होरहा है . और वो आज बहुत आगे बढ़ रही है . और दुनिया मै अपनी छाप छोड़ रही है .

 

दोस्तों मै आज आपके लिए एक ऐसी post  लेके आया हु , जो हमारे देश और सब देशवासियो के लिए बड़े ही सम्मान और गौरव की बात है . इसका नाम  है ” कौन है अवनी चतुर्वेदी ” और आप इस post  मै अवनी चतुर्वेदी के बारे मै जानेगे .

 

दोस्तों अवनी चतुर्वेदी वह शक्शियत है . जिन्होंने अपने जीवन मै एक बहुत बढ़ी उपलब्धि हासिल करी है . अवनी चतुर्वेदी ने अकेले ही लड़ाकू विमान उड़ाया है . और यह किसी भी महिला द्वारा किया गया पहला काम है .

 

कौन है अवनी चतुर्वेदी

 

दोस्तों इतिहास मै जब भी किसी भी महिलावों के कौशल की बात होगी तो ,  तो उसमे अवनी चतुर्वेदी का नाम अनुकरणीय होगा . और दोस्तों होभी क्यों ना , क्योकि वह देश की पहली महिला पायलेट है . जिन्होंने अकेले ही जेट उड़ाया . और इसके पहले महिलावों के स्तर पर ऐसा कारनामा कभी नहीं हुवा .

 

दोस्तों अवनी चतुर्वेदी का कारनामा सरकार को अपने उस फैसले पर पीठ ठोकने पर भी विवश कर रहा है . जिसके तहत सरकार ने प्रयोग के तोर पर महिलाओं को लड़ाकू विमान उड़ाने का एक मौका देने का फैसला लिया गया था . और जिस फैसले पर अवनी चतुर्वेदी भी खरी उतरी है .

 

Also Read – भाषा क्या है जीवन में भाषा का क्या महत्व है

 

दोस्तों वायु सेना ने अवनी चतुर्वेदी के साथ कांत व मोहना सिंह को लड़ाकू विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया था . लेकिन इतिहास मै शुमार होना सिर्फ अवनी के ही भाग्य मै था . दोस्तों उन्होंने सोमवार को mig – 21  मै उड़ान भरी . ना केवल महिलाओं बल्कि वायु सेना के लिए भी वह ख़ुशी भरा था अवनी चतुर्वेदी ने जामनगर एयरबेस  से mig – 21 जेट मै उड़ान भरी . अवनी चतुर्वेदी जुलाई 2016  बैच की कमीशंड अफसर है .

 

Also Read – जीवन में संघर्ष क्यों जरूरी है

 

दोस्तों उन्हें फ़्लाइंग अफसर के तोर पर वायु सेना मै प्रवेश दिया गया . अवनी चतुर्वेदी के साथ बाकि दोनों महिला पायलटो को भी लड़ाकू विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया गया . लेकिन अवनी चतुर्वेदी अपने साथियो से कुछ कदम आगे निकली .

 

Also Read – Life में बातो को Ignore करना कैसे सीखे

 

तभी शीर्ष अधिकारियो ने तय किया की जामनगर हवाई अड्डे पर जेट वो अवनी ही अकेले उड़ाएगी . वायु सेना की तरफ से कहा गया की जिस चीज को ध्यान मै रखकर तीनो को प्रशिक्षण दिया गया था . उस पर अवनी खरी उतरी ,  और उन्होंने यह कारनामा अकेले ही कर के दिखाया .

 

Also Read – जीवन जीने की राह केसी हो

 

तो दोस्तों देखा आपने अवनी चतुर्वेदी ने किस प्रकार अकेले ही लड़ाकू विमान उड़ाया और अपने देश का और आपने माँ – बाप का नाम रोशन किया . और मेरा आपसे यह कहना है . की आप अवनी चतुर्वेदी से सिख ले और खासकर लड़किया उनके जीवन से सिख ले और वो भी अपना नाम रोशन करे और देश को आगे लेके जाये .

 

Also Read – हम सफलता कैसे बनाये रख सकते है

 

और मै समझता हु , अवनी चतुर्वेदी से हम लोग बहुत  सिख लगे और अपने जीवन मै बहुत बड़े – बड़े काम करेंगे .

 

तो दोस्तों आपको यह post  ” कौन है अवनी चतुर्वेदी ” कैसी लगी pliz  हमे बताये . और मै समझता हु , की आप यह post  पढ़के जरूर गोरान्वित होंगे और आपके मन मै भी कुछ काम करने की इक्षा जागेगी . और आप भी देश के लिए कुछ बड़ा काम करने की कोशिश जरूर करेंगे .

 

और आप इस post से Related अपने विचार हमे Comments के माध्यम से बता सकते है . हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा

 

धन्यवाद

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *