कैसे जाने परिश्रम क्या है

कैसे जाने परिश्रम क्या है

 

 

दोस्तों हम मेहनत करते है . सारी जिंदगी पर क्या हमे सही मायने में परिश्रम करना पता है और परिश्रम भी ऐसा जिसके करने से हमे सफलता मिलती है .

 

तो आज हम इस post   ” कैसे जाने परिश्रम क्या है ” में देखेंगे की परिश्रम सही मायने  में क्या है . जो हमे जीवन में करना है .

 

दोस्तों सबसे पहले तो हम यह देखते है की परिश्रम क्या होता है . परिश्रम वह होता है , जो इंसान के द्वारा शारीरिक , और मानसिक रूप से किया जाता है मतलब जो मेहनत का काम करते है वह भी परिश्रम होता है और जो अपने दिमाग का काम करते है वो भी परिश्रम होता है .

 

जैसे कोई मजदूर काम करता है, वो अपने हातो से काम करता है, तो वो शारीरिक श्रम होता है और अगर कोई officer  कोई काम करता है , तो वो उसके दिमाग  का काम होता है , जैसे doctor इंजीनियर और भी ऐसे लोग जो अपने दिमाग से काम करते है वो  मानसिक परिश्रम होता है .

 

दोस्तों दुनिया का हर इंसान काम करता है परिश्रम करता है . और मेरे हिसाब से कोई काम छोटा नहीं होता . बस सब लोग जो भी काम करते है वो अपनी – अपनी शमतावो के हिसाब से करते है .  जैसे कोई अनपढ़ है तो वो उस हिसाब से काम करता है उसे मजदूरी करना पड़ती है .

 

और जो इंसान पढ़ा – लिखा है तो वो अपनी योग्यता के हिसाब से काम करता है .

 

और दुनिया में भी लोगो ने उसी हिसाब से काम divide  करे मतलब जिस पोस्ट के लिए जो आदमी जो पढ़ाई करता है , उसे उसमे परिश्रम करना पढ़ता है . और वो सारी जिंदगी उस काम को करता है . और जो कोई खुद का काम करता है तो उसे उसमे परिश्रम करना पढ़ता है .

 

कैसे जाने परिश्रम क्या है:

 

पर दोस्तों सही मायने में परिश्रम करना क्या है . और आप अपने दिलो – दिमाग से एक बात बिलकुल निकालदे की इंसान को अपने जीवन में सफलता पाना है .

 

तो उसको कोई स्पेशियल   काम करना पड़ेगा . नहीं हम या दुनिया का कोई भी इंसान चाहे वो मजदूर हो कोई अफसर हो उसे सफलता पाने में कोई काम आड़े नहीं आता आप जो भी करते है . आप उसमे ऐसा परिश्रम करे की आप उसमे सफल हो जाये .

 

आप अगर कम पड़े लिखे भी है तो आप ऐसा ना सोचे की हमे तो जीवन भर यही काम करना पड़ेगा मजदूरी ही करना पड़ेगी है और यह सही भी है . कुछ लोगो को जीवन ही  मजदूरी करना पढ़ती है . पर वो भी इससे बच सकते है उन्हें सही तरिके से परिश्रम करना होगा .

 

अपने काम में मेहनत करनी होगी दोस्तों मेहनत के लिए दुनिया की कोई पढ़ाई – लिखाई नहीं चाहिए किसी डिगरी की भी जरूरत नहीं है , बस हम कैसे परिश्रम करते है ये मायने रखता है मतलब उस काम को करने में हमारी सोच कैसी है ये मायने रखता है , और कठिन परिश्रम करना पढ़ता है , तभी हमे सफलता मिलती है .

 

परिश्रम कैसा हो उसके लिए में आपको एक उदाहरण देता हु , दोस्तों हम सब ने धीरूभाई अम्बानी का नाम तो सुना  ही है . और उनके बारे में कहते है . की वो बहुत गरीब थे . और वो ठेला चलाया करते थे . पर उन्होंने अपने जीवन में हार नहीं मानी उन्होंने बहुत कठिन परिश्रम किया और वो अपने काम में आगे बढ़ते गए .

 

और उन्होंने इतना बड़ा business  खड़ा किता जिसे आज हम देखते है . आज उनका नाम देश के top  लोगो में गिना जाता है . और उनका लगाया business  आज उनके नहीं होने पर भी बहुत आगे बढ़ रहा है . पर मेरे कहने का मतलब बस इतना ही है की आप भी अगर कोई ऐसा काम करते है , जिसमे आप सोचते होंगे की इसमें में कुछ नहीं कर पाउगा तो ऐसा नहीं है .

 

दोस्तों हमे आगे बढ़ना है तो हमे परिश्रम के साथ – साथ अवसर तलाशने होंगे और कोई अवसर मिलने पर उसे भुनाना होगा , तभी हम कुछ कर पाएंगे . मेरे हिसाब से ऐसे लोग जो Officer  rank  के या doctor  या कुछ और होते है . वो सारी जिंदगी उसी काम को करते रहते है . क्योकि उनको उसमे पैसे मिलते है और उनका काम चलता ही रहता है . तो वो कोई Extra  Effort  नहीं करते . मगर जो गरीब जो मजदूर होते है वही अपने कठिन परिश्रम से इतिहास लिखते है .

 

Also Read – हमारे मन में negativity क्यों आती है

 

दोस्तों आप को और भी दुनिया में ऐसे कई उदाहरण मिल जायेगे जिनमें आगे बढ़ने की लगन थी , और वो पड़े – लिखे भी कम थे . फिर भी उन्हें लोग याद करते है उनके पास बड़े – बड़े पड़े – लिखे लोग काम करते है . क्योकि उन्होंने कठिन परिश्रम किया तो आज वो इस position  पर बैठे है .

 

Also Read – जो करना हे वो आज करे

 

आपने नेतावों को देखा होगा जो नेता लोग होते है , वो भी ज्यादा पड़े – लिखे नहीं होते और ऐसा भी नहीं की इस field  में competition  कम है इसमें भी बहुत competition  है . एक post  के लिए 100  लोग होते है . पर फिर भी जो कड़ी मेहनत और कठिन परिश्रम करता है , वही अपने जीवन में आगे बढ़ता है .

Also Read – जीवन में संघर्ष क्यों जरूरी है

 

 

दोस्तों मेरा आपको उदाहरण देने का बस यही मतलब है की आप जीवन में जो भी काम करे या करते होंगे . अगर आपको उस काम में सफलता पानी है , तो आपको परिश्रम करना होगा और वो भी तब  तक  , जब तक आपको सफलता प्राप्त ना हो जाये आप जीवन में कुछ बन ना जाये . तब तक आपको परिश्रम करना है , मेहनत करनी है .

 

Also Read – life में शिक्षा कैसे मिले

 

कोई इंसान अगर भूखा है , और उसे अगर खाने तक पहुंचना है तो वो कितना परिश्रम करता है वो जमीन आसमान एक कर देता है . खाने तक पहुंचने के लिए . और अगर मानलो कोई हमे पकड़ने को दौड़ता है .

 

Also Read – हम जीवन में निरास क्यों होते है

 

तो हम हमारी जान बचाने के लिए जिस तरह भागते है , हम अपनी जान बचाने के लिए बहुत परिश्रम करते है , और अन्त में हम अपनी जान बचाने में सफल होते है . तो हमे भी जीवन में सफल होने के लिए ऐसा ही परिश्रम करना है .

 

तो दोस्तों आपको यह post  ” कैसे जाने परिश्रम क्या है ” कैसी लगी pliz  हमे बताये और मै समझता हु , की आप भी जीवन में आगे बढ़ने के लिए ऐसा ही परिश्रम करेंगे और अपने काम को कभी नहीं कोसेंगे की मेरा काम छोटा है , या बड़ा है . बस हर काम करते हुए आपको आगे बढ़ना है . और जीवन में सफलता प्राप्त करनी है .

 

और दोस्तों आप हमे इस post से related अपने सुझाव हमे Comments के माध्यम से बता सकते है हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा .

 

धन्यवाद

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *