जानिए सत्यता का सिद्धांत क्या है

जानिए सत्यता का सिद्धांत क्या है

 

जानिए सत्यता का सिद्धांत क्या है – आज की post  में हम सत्यता के बारे में देखेंगे की आखिर सत्यता होती क्या है . और इंसान के लिए सत्य का कितना महत्व है . और हमे जीवन में सत्य क्यों बोलना चाहिए .

 

दोस्तों ज्ञानी लोग बताते है , की आत्मा का भोजन ही सत्य है . मतलब आत्मा को सत्य बोलना   पसंद है . नाकि झूठ इसलिए जो इंसान सत्य के रास्ते पर चलता है . भलेही उसकी रहो में मुसीबते आए पर अन्त में उसका अच्छा ही होता है . और इंसान को जीवन में हमेशा सत्य के रास्ते पर ही चलना चाहिए किसी महापुरुष ने यह भी कहा है -” की आप जीवन में झूठ भी बोल सकते है मगर झूठ ऐसी जगह बोले जहा किसी की गर्दन कटती हो “.

 

मतलब किसी की जान को खतरा है , कोई निर्दोष है और अगर हम थोड़ा झूठ बोल कर उसकी जान बचा  सकते है . तो ऐसे झूठ बोलने पर आपको पाप नहीं लगेगा . दोस्तों सत्यता एक बहुत बड़ा हथियार है , कहते भी है की सत्य की नाव डोलती जरूर है . परन्तु डूबती नहीं है .

 

हम सब ने महाभारत देखी  है . पूरी महाभारत में झूठ  और सत्य के कई उदाहरण मिलते है . जिन लोगो ने झूठ बोला उनको उसकी सजा भी मिली और आपने धर्मराज युधिस्ठिर को भी देखा है . कहा जाता है की , युधिस्ठिर ने अपने सम्पूर्ण जीवन में कभी झूठ नहीं बोला हमेशा सत्य ही बोला है .

 

तो अन्त में महाभात्र युद्ध में उनकी विजय होती है . और झूठ बोलने वाले और झूठ का साथ देने वाले हार जाते है .

 

हम सांसारिक लोग है . हम अपना काम धंधा करते है , हमारे जीवन में भी ऐसे कई मोके आते है जब हमे झूठ बोलना पढ़ता है . और दोस्तों जैसा मैने बताया की मुसीबत के वक्त झूठ बोलना बुरा नहीं है . मगर में देखता हु , की आज के युग में हर इंसान ऐसे ही बात – बात में झूठ बोलता है  ,

 

आज लोगो ने सत्यता की परिभाषा ही बदल दी  है . आज के दौर में सत्य बोलने वाले व्यक्ति को पागल कहा जाता है .

 

जानिए सत्यता का सिद्धांत क्या है”

 

आज पल – पल पे लोग झूठ बोलते है . किसी से थोड़ा पैसा लेलेते है . पर जब देने की बारी आती है तो उसको झूठ बोल कर टालते रहते है . लोगो ने सत्यता का सिद्धांत तो छोड़ ही दिया है . सत्यता का सिद्धांत वह था , की इंसान ने एक बार जो बोल दिया वो उसपर अड़िग रहता था .

 

फिर भेली उसको उसकी कोई भी कीमत क्यों ना चुकानी पड़े . पर इंसान सत्यता का सिद्धांत नहीं छोड़ते थे . पहले  लोग अपनी बात के खातिर कुछ भी कर लेते थे . अपनी इज्जत को बहुत बड़ा मानते थे . पर आज इज्जत जाये तो जाये पैसा आना चाहिए भलेही वो झूठ बोलकर क्यों ना कमाया गया हो  .

 

आज के दौर में इंसानो ने इंसान से ज्यादा रूपये पैसे की कीमत रखी है . दोस्तों ज्यादा पुरानी बात नहीं करे जब हमारे दादा जी थे . मतलब वो जब जवान थे . तो वो बताते है की हमारे समय में इंसान कोई भी दुःख क्योना उठा लेता  पर हमेशा सत्यता के सिद्धांत का पालन करता मतलब जो बोलता था उसे पूरी निष्ठा के साथ निभाता था .

 

भलेही खुद तकलीफ उठाता है . पर अपने सत्य पर कायम रहता है . मगर आज क्या होता है लोग छोटे – छोटे फायदे या लालच के लिए किसी भी हद तक गिर सकते है . आज किसी को कोई भी गाली देके चला जाता है . मगर दादाजी बताते है . की हमारे समय में कोई इंसान किसी भी कारण से अपने घर नहीं आता था .

 

मतलब कोई उधारी  मांगने नहीं आता सब समय पर होता था . पूरी सत्यता से और सामने वाला भी खुश रहता था . और हमारी भी इज्जत रहती थी हम 10  लोगो में बेठ सकते थे .

 

और आज क्या है , आज इंसान पैसे के लिए झूठ बोलता है . पहले लोग अपने सिध्दांत पर कायम रहने के लिए अपना काम अपना घर बार भी छोड़ देते थे  . और आज कल में देखता हु , की हम हमारे   work  place  पर काम करते है . तो इंसान अपनी job  बचाने के चक्कर में झूठ बोलता रहता है .

 

और किसी दूसरे  की job  को खतरे में डालता है . अपने लालच के लिए वो हर समय झूठ बोलता रहता है . कोई इंसान सत्यता के सिद्धांत  पर कायम नहीं रहता है .

 

पर दोस्तों में यह भी नहीं कह रहा हु , की हर इंसान ही गलत है. आज के दौर में भी ऐसे कई लोग आपको मिलेंगे जो सत्यता के सिद्धांत पर चलते है . आज भी ऐसे लोग है जो अपनी बातो पर कायम रहते है . और आपके भी आस – पास ऐसे कई लोग आपको मिल जायेगे .

 

Read more – जीवन जीने की राह केसी हो

 

मेरा आपसे बस यही कहना है की कितना भी दुःख कितनी भी मुसीबत क्यों ना आए हमे अपनी सच्चाई का रास्ता नहीं छोड़ना चाहिए . हमे किसी भी परिस्तिथी में भी  सत्यता का सिद्धांत नहीं छोड़ना है , दोस्तों आप अगर सत्य के रास्ते पर चलते है . तो आपके सामने कई विघ्न आएंगे पर अन्त में आपकी जित जरूर होगी यह निश्चित है .

 

Read more – हम विचलित क्यों होते है

 

और आप अगर सत्यता के सिद्धांत पर चलेंगे तो आपकी आत्मा में भी ख़ुशी होगी आपको अपने पर कभी पछताना नहीं पड़ेगा आप सदैव खुश रहेंगे . और ओरो को भी ख़ुशी देते रहेंगे . हमे सत्यता की मिसाल पेश करना है , हम चाहे दुनिया में रहे या ना रहे

 

Read more – चापलूसी क्या है इससे कैसे बचे

 

पर हमारे जाने के बाद भी लोग हमे याद करते रहे और याद  भी ऐसी करे की हमारे जाने के बाद भी हमारी इज्जत हो नाकि बुराई हो . और ऐसे  इंसानो को लोग भी पसंद करते है और प्रभु के प्रिय भी होते है . इसलिए हमे सदैव सत्यता के  सिद्धांत का पालन करना है .

 

Read more – क्या आपको पता है की आप कहा रहते है

 

तो दोस्तों आपको यह post  ” जानिए सत्यता का सिद्धांत क्या है ” कैसी लगी pliz  हमे बताये और में समझता हु , की आप भी अपने जीवन में सदैव सत्य बोलेगे और सत्यता के सिद्धांत का पालन करेंगे . और लोगो को भी सही राह दिखाते रहेंगे .

 

Read more – सफल लोगो की 5 खास बाते

 

और दोस्तों आप हमे इस post से related अपने सुझाव हमे Comments के माध्यम से बता सकते है हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा .

 

धन्यवाद

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.