जाने क्या है Competition प्रतियोगिता का महत्व

जाने क्या है Competition प्रतियोगिता का महत्व – आज के नए जमाने में अगर हमे कही जाना है या कुछ प्राप्त करना है या जीवन में सफलता प्राप्त करना है उसके लिए एक चीज बहुत कॉमन हो गयी है और वो है “Competition” दोस्तों आज के दौर में हर क्षेत्र में Competition बहुत बढ़ गया है और हमे कोई भी चीज आसानी से नहीं मिलती चाहे आपको कोई नौकरी प्राप्त करना है या कही पहुंचना है या किसी business में अपना नाम करना है प्रतियोगिता उसमे सबसे जरूरी हो गयी है आज किसी एक job  के लिए सो लोग apply करते है और सो ही बहुत प्रतिभावान होते है ऐसे में उस नौकरी के लिए बहुत Competition बढ़ जाता है.जाने क्या है Competition प्रतियोगिता का महत्वदोस्तों आज के युग में जैसे – जैसे दुनिया की जनसंख्या बढ़ती जारही है उसी तरह हर क्षेत्र में प्रतियोगिता भी बढ़ती जारही है. मित्रो “आज सीट एक है और उस  पर बैठने वाले दस है” तो अब आप समझ लीजिये की उस एक सीट पर बैठने के लिए हमें कितनी कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी और जो भी व्यक्ति उस सीट पर बैठता है वो हर तरह की प्रतियोगिता, हर परीक्षा पास करके आया है तब जाकर उसे उस सीट पर बैठना मिला है.

दोस्तों आख़िर Competition क्या है इसका, मीनिंग क्या है “Competition वो है जो किसी चीज या किसी मोके या किसी मंजिल को पाने के लिए कई लोगो के द्वारा उस चीज को या उस मंजिल को पाने के लिए किया जाता है.” और जो व्यक्ति उस होड़ में जित जाता है वही विजय होता है.

पर  मित्रो  मैने  देखा  है  लोग  competition  भी  दो  तरह  का  करते  है  एक  तो  अच्छी  नियत  से  और  दूसरा  बुरी  नियत  से  एक  वो  होता  है  जो  सिर्फ  अपने  आपको  आगे  बढ़ाने  के  लिए  लोगो  से  competition  पर्तिस्पर्धा  करता  है. और  दूसरा  वो  होता  है  जो  किसी  और  को  हराने  के  लिए  उसे  पीछे  करने  के  लिए  competition  किया  जाता  है  दोनों  ही  सूरत  में  competition  करने  में  बहुत  मेहनत  लगती  है  पर  हमेशा  competition positively होना  चाहिए  खुद  को  जितने  के  लिए  आप  खुद  को  जितने  की  पर्तिस्पर्धा  करोगे  तो  तो  आप  के  प्रतिस्पर्धी  अपने  आप  ही  पीछे  होते  जाते  है.

जाने क्या है Competition प्रतियोगिता का महत्व”

दोस्तों  जीवन  में  सफलता  पाने  के  लिए  competition  का  रखना  बहुत  जरूरी  है  competition ही  हमें  काम  में  मेहनत  करने  का  जोश  देता  है. competition  से  ही  हमारे  अंदर  जीत  की  भावना  आती  है  अगर  किसी  भी  तरह  की  पर्तिस्पर्धा  ना  हो  तो  लोग  अपने  जीवन  में  किसी  भी  काम  में  रुचि  ही  ना  दिखाए  बिना  पर्तिस्पर्धा  के  इंसान  के  अंदर  ना  कोई  जोश  रहता  है  ना  ही  सफलता  पाने  की  लालसा  ना  जित  का  विश्वास  इसीलिए  किसी  भी  काम  में  competition  का  होना  बहुत जरूरी  है.

मानलो  एक  school की  class है  और  उसमे 40  बच्चे  पढ़ते  है  मगर  उन  40 बच्चो  में  सब  के  सब  अच्छे  पढ़ने  वाले  है  मगर  कोई  बच्चा  ऐसा  सोचे  की  मुझे  सबसे  ज्यादा  नंबर  लाना  है  तो  उसको  उन  बाकि  39  बच्चो  से  पढ़ाई  में  होड़  रखना  पड़ेगी  की  वो  सबसे  ज्यादा  नंबर  लासके  और  यही  प्रतियोगिता  उसे  अच्छी  पढ़ाई – लिखाई  करने  में  प्रोत्साहित  करती  है  की  कोई  मेरे  से  आगे  ना  निकल  जाये  इसलिए  वो  अपने  अंदर  जोश  जगाये  रखता  है  और  जब  तक  उसका  लक्ष्य  पूरा  ना  हो  जाये  वो  सबसे  competition बनाकर  रखता  है.

जैसे हम आज – कल देखते है, खेलो का बहुत महत्व बढ़ता जारहा है, और देश की और राज्यों की टीमो में खिलाड़ियों का चयन होता है. और उन टीमों में बहुत कम लोगो की जगह होती है लेकिन टीम में शामिल होने के लिए बहुत लोग लाइन में लगे होते है.

तो ऐसे में एक टीम में सिर्फ 11  या 15  खिलाडी होते है और उसके लिए हजारो लोग पर्तिस्पर्धा करते है, Competition करते है. पर उस Competition में कुछ लोग ही सफल होते है और कुछ को ही मौका मिलता है और जिन लोगो को टीम में जाने का मौका मिलता है वही Competition में विनर बनते है.

Competition  के  बारे  में  यही   उदाहरण  नहीं  है  लाखो  उदाहरण  है  जीवन  में  हर  जगह  और  मित्रो  जैसा  मैने  आपको  ऊपर  बताया  की  दुनिया  की  जनसंख्या  बहुत  तेजी  से  बढ़ती  जारही  है  और  उसी  के  साथ  हर  क्षेत्र  में  कड़ी  पर्तिस्पर्धा  भी  बढ़  रही  है.  हम  अपने   आस – पास  छोटी – छोटी  चीजे  देखते  है

जैसे  हमे  अपने  घर  के  लिए  पानी  भर  के  लाना  है  या  बिजली  का  बिल  भरना  है  या  किराने  का  सामान  लेने  जाना  है  तो  हमें  इन  सब  जगहों  पर   ओरो  से  competition  करना  पढ़ता  है.  किसी  को  पानी  का  टेंकर  दिख  जाये  तो  ऐसे  होड़   लग  जाती   है,  जैसे  सारे  टेंकर  का  पानी  उसी  अकेले  का  है  जिस  तरह  से  वो  दुसरो  से  होड़  करता  है.

दोस्तों यह तो हम ने अभी तक इस post  में देखा की आखिर क्या है, Competition प्रतियोगिता का महत्व लेकिन क्या हमें अबतक सही मायने में यह समझ में आया है की आखिर हमे प्रतियोगिता कहा करनी है या किसके साथ करनी है क्या हमे  प्रतियोगिता अपने  किसी competitor  से करनी है या किसी और से पर मेरा आपसे यह कहना है

की आप अपना Competition खुद से करे क्योकि खुद से बड़ा competitor  दुनिया में दूसरा कोई नहीं होता हमे अपने आप को देखना है की हम कल क्या थे. और आज क्या है और भविष्य में क्या बनेगे या कैसे रहेंगे क्या हम अभी भी वही पर तो नहीं है जहा हम पांच साल पहले थे या हमारे में कोई परिवर्तन आया है.

दोस्तों हमे अपने आप से ही पर्तिस्पर्धा रखनी है और खुद को चेक करते हुए आगे बढ़ते जाना है हमे अपने आप में यह देखना है की हम अभी जो काम कर रहे है उसको किस तरह कर पारहे है, और अब से कुछ समय बाद उसको और अच्छे से कैसे कर पाएंगे.

और उसमे कितने सफल हो पाते है जैसे आप का कोई business  है और आप को अभी उसमे  कम प्रॉफ़िट होरहा है, तो ऐसे में आपको उसके लिए किसी और से Competition करने की कोई जरूरत नहीं है ऐसे में आप को अपने आप से ही Competition करना पड़ेगा और अपने अंदर की कमियों को दूर करते हुए आगे बढ़ते जाना है.

जैसे मैने आज से एक साल पहले  Blogging start  करी थी पहले – पहले मुझे इस फील्ड में कुछ ज्यादा नॉलेज नहीं था. पर समय के साथ – साथ किसी भी काम को करते – करते हमे उसमे अनुभव आने लगता है और हम उस काम को अच्छे से करने लगते है और यही अपने आप से Competition करना होता है. मगर यदि में एक वर्ष पहले इस फील्ड में जिस पोजीशन पर था.

आज एक साल बाद भी वही पर रहता हु, तो यह मेरी विफलता मानी जाएगी मतलब जब तक आप अपने आपसे Competition नहीं जित पाते तब तक आप दुसरो से Competition नहीं जित पाएंगे.

तो दोस्तों यह थी post  ” जाने क्या है Competition प्रतियोगिता का महत्व ” आपको यह पोस्ट कैसी लगी प्लीज़ हमें बताये और में समझता हु, आप अपने जीवन के हर Competition में हमेशा विजय बनेगे जित पाएंगे हमेशा सबसे positively Competition करे किसी को गिराने के लिए नहीं खुद को आगे बढ़ाने के लिए लोगो से प्रतियोगिता करे और अपने मन में हमेशा सबके प्रति अच्छा संकल्प रखे की सबका भला हो भगवान सब का अच्छा करे केवल खुद के बारे में ही ना सोचे सब के प्रति अच्छा सोचे तभी आप दुनिया में एक अच्छे प्रतियोगी बन पाएंगे.

और आप इस post से संबंधित अपने कोई भी विचार हमे Comments के माध्यम से भेज सकते है.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.