हम जीवन में निरास क्यों होते है

 

दोस्तों  आज  के दौर  में  या  नए  जमाने  में  इंसान  को  सब  सुख   सुविधाएं  फेसिलिटीज   मिलती  जारही  है  मगर  फिर  भी  “हम  जीवन  में  निरास  क्यों  होते  है  “  इसका  क्या  कारण  है.  और  ये  निराशा  किसी  एक  इंसान  में  ही  नहीं  ये  आज  एक  बड़ी  बीमारी  की  तरह  बढ़ती  जारही  है .

हम जीवन में निरास क्यों होते है

जिसमे  आदमी  और  औरत  यहा  तक  की  बच्चो  को  भी  अपने  चपेट  में  लेलिया  है  . और  इंसान  इससे  निकल  नहीं  पारहा   है  . और  ऐसा   क्यों  हो रहा  है , क्यों  की  ये  निराशा  इंसान  के  स्वयं  के  द्वारा  बनाई  गई  है .

 

कैसे  में  आपको  बताता  हु  , चलो  हम  थोड़े  समय  पहले  की  बात  करते  है –  जब  हमारे  दादा  – दादी  का  बचपन  था , तो  तब   के  दौर  में  इंसान  के  पास  चाहे  सुख   सुविधा  के  साधन  कम  थे  पर  फिर  भी  वो  सुखी  थे  मतलब  वो  फिर  भी  निराश  नहीं  होते  थे   .

 

जब  सारा  काम  हाथ  से  होता  था  पैदल  चलना  होता  था  मगर  आज  इंसान  के  पास  काम  करने  के  लिए  मशीने  है  . और  चलने  के  लिए  गाड़ी  है  फिर  भी  आज  का  इंसान  निरास  रहता  है  उसका  जीवन  निराशा  से  भरा  हुवा  है  .

 

दोस्तों  पहले  साधन  नहीं  था  तो  सुख   था , और  आज  साधन  है  तो  सुख  नहीं  है  . क्योकि  आज  के  इंसान  में  अपने  लिए  साधन  तो  बहुत  जुटा लिये  है  पर  उनमे  घिर  कर  और  निरास  होगया  है  . और  आज  के दौर  में  निरास  होने  का  कोई  एक  कारण  नहीं  है  यहा  पर  इंसान  के  निरास  होने  के  कई  कारण  है . कई  अपने  काम  के  लिए  निराश  होते   है  तो  कोई  अपनी  फेमली  मेटर  पर  निरास  होता  है  तो  कोई  और  वजह  से  निरास   होता  है .

 

दोस्तों  पहले  इंसान  जो  काम  करते  थे . भलेही  कम  मात्रा  में  करते  थे  पर  काम  करके  free  रहते  थे  और  चैन  से  सोते  थे.  और  पूरा  काम  भी  हातो  से  ही  करना  पढ़ता  था  . मगर  आज  किसी  भी  काम  का  production बढ़ा  है  और  इंसान  खुद  काम  भी  नहीं  करता  मशीने  लगी  हुई  है . और  फिर  भी  हम  निराश  रहते  है .

 

हम जीवन में निरास क्यों होते है:

 

दोस्तों  कई  बार  ऐसा  होता  है  की  मानलो  किसी  इंसान  की  कोई  company है  उसके  यहा  अच्छा  काम  चलता  है  . और  एक  दौर   ऐसा  आजाता  है . की  उसका  production बहुत  कम  हो  जाता  है  . तो  ऐसे  समय  पर  उस  इंसान  के  मन  में  निराशा  आ  जाती  है  . भलेही  वो  पैसे   वाला  है  पर  उसको  उस  काम  के  विफल  होने  पर  निराशा  आजाती  है  .

 

Read More – Job पाने के स्त्रोत क्या – क्या है

 

Read More – हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए

 

जैसे  कोई  स्कूल  का  बच्चा है  वो  अपनी  पढ़ाई  करता   है   पर  मेने  देखा  है  बच्चे  अपनी  Exam  के  लिए  बहुत  ही  निराशा  अपने  मन  में  रख  लेते  है . जैसा   किसी  बहुत  बड़े  इंतिहान  की  तैयारी  कर  रहे  हो  तो  में  यहा  ऐसे  बच्चो  से  कहना  चाहता  हु , की  आप  किसी  भी  काम  को  करने  से  पहले  उसके  लिए  अपने  मन  में  निराशा  लाएंगे  तो  ये  अच्छी  बात  नहीं  है .

 

Read More – जीवन में नींद क्यों जरूरी है

 

जो  काम  होना  है  वोतो  होगा  उसके  लिए  अपने  मन  में  निराशा  रखने  की   कोई   जरूरत  नहीं  है  . दोस्तों  हम  हमारे  जीवन  में  जोभी   काम  करते  है  उसका  result हमारे  हाथ  में  नहीं  होता  वो  तो  भगवान  ही  बता  सकते  है  की  क्या  होने  वाला  है  , तो  हमे  उसके  बारे  में  सोचकर  निराश  नहीं  होना  है . बस  अपने  प्रयत्न  करना  है  .

 

Read More – हमारे मन में negativity क्यों आती है

 

और  दोस्तों  मैंने  पड़े  – लिखे  ऐसे  इंसान  को  भी  निरास  होते  देखा  है  .  जो  job के  लिए  निरास  होते  रहते  है   . आज  के दौर  में  job की  कमी  है . नाकी  job करने  वाले  की  तो  दोस्तों  आप  भी  अगर  कोई  job ढूंढ  रहे  है.  तो  आपको  भी  एक  दिन  जरूर  मिलेगी  मगर  आप  उस  job के  चक्कर  में  निरास  हो  कर  बेठ  जाये  तो  यह  भी  ठीक  नहीं  है  . आप  को  मैने  पहले  भी  बताया  है  की  मेहनत  करना  हमारे  हाथ  में  है  ना  की  result निकालना  तो  हमे  job के  लिए  भी  जीवन  में  निरास   नहीं  होना  है .

 

Read More – हमारे सपनो की उड़ान केसी हो

 

और  दोस्तों  कभी  कभी   इंसान  अपने  फेमेली  meters पर  भी  बहुत  निरास  हो  जाता  है  जैसे  परिवार  में  किसी  की  शादी  करना  है.  तो  उसके  लिए  पैसे  कहा  से  आएंगे  क्या  – क्या  इंतजाम  करना  पड़ेगा  वगैरह  – वगैरह  और  किसी  को  बीमारी  की  टेंशन  रहती  है .

 

Read More – लोहड़ी क्या है कैसे मनाई जाती है

 

और  किसी  का  बच्चा  या  किसी  के  माँ – बाप  बीमार  रहते  है  तो  उस   कारण  वो  निरास  रहता  है . पर  दोस्तों  यहा  भी  में  आपको  बताऊ  की  भगवान  ने  सब  काम  fix करके  रखे  है  की  कब  क्या  होगा  तो  हमे  किसी  की  टेंशन  नहीं  लेनी  है.

 

और  दोस्तों  हम  जीवन  में  कभी  – कभी  तो  इस  लिए  भी  निरास   हो  जाते  है  की  हमारे  किसी  दोस्त  ने  या  किसी  हमारे  पहचान  वाले  ने   या  हमारे  किसी  दुश्मन  ने  तरक्की  कर्ली   है  उसका  काम  हमारे  काम  से  अच्छा  चल  रहा  है  तो  हम  उस  कारण  भी  निरास   होने  लगते  है  .

 

तो  दोस्तों  यह  तरीका  सही  नहीं  है.  हम  अगर  किसी  से  पीछे   हुए  है  तो  हमे  उससे  ज्यादा  मेहनत  करके   उससे  आगे  होना  है.  हमे  हमारे  काम  को  आगे  बढ़ाना  है  ना  की  किसी  की  तरक्की  के  बारे  में  सोच  कर  निरास  होते  रहे  और  दोस्तों  ये  वाला  reason   बहुत   आम  है  लोग  अपने  दुःख मे  तो  दुबले  नहीं  होते  बल्कि   दूसरे  के  सुख  में  ज्यादा  दुबले  होते  है  . और  अपने  मन  में  निराशा  लाते  रहते  है  . तो  हमे  यह  सब  भी  छोड़  ना  पड़ेगा .

 

तभी  हम  अपने  जीवन  से  निराशा  को  हटा  सकते  है . और  दोस्तों  अगर  हम  ऐसा  काम  करेंगे  की  दूसरे  की  तरक्की  से  भी  खुश  होंगे  तो  ये  भी   हमारे   लिए  बहुत  अच्छा   होगा  और  हम  दुसरो  के  लिए  भी  खुश  रहेंगे  तो  हमारी  लोगो  में  इज्जत  भी  बढ़ेगी  और  लोग  भी  हमसे  प्यार  करेंगे.

 

और  भी  कई  लोगो  की  कई  प्रकार  की  समस्या   होती  है  मैने  तो  ऐसा  भी  देखा  है  की  किसी  का  कोई  phone भी  नहीं  लग रहा  है  तो  उसके  लिए  भी  वो  इंसान  निरास  हो  जाता  है.  मतलब  लोग  छोटी  – छोटी  बातो  के  लिए  भी  निराशा  को  मन  में  बिठा  लेते  है  . तो  दोस्तों  में  आपसे  बोलता  हु,  की  आप  जीवन  में  कभी  निराशा  को  नहीं  आनेदे  क्योकि  आप  जिस   भी  कारण  के  लिए  अपने  मन  में  निराशा  लाते  है  वो  तो  वैसे  भी  होना  ही  है .

 

तो  दोस्तों  आपको  ये  post “हम  जीवन  में  निरास  क्यों  होते  है  “ केसी  लगी  pliz हमे  बताये और में आशा करता हु, की अबसे आप भी किसी काम की कोई टेंशन नहीं लगे और अपने मन में और अपने जीवन में निराशा को नहीं आने देंगे  बस अपने काम पर focus रखेंगे .

 

और दोस्तों आप इस post से Related अपने सुझाव हमे Comments के माध्यम से बता सकते है हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा .

 

धन्यवाद

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *