हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए

हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए – दोस्तों आज में ये post आपके लिए Thoughtking पर लाया हु, जो बहुत ही ज्ञानवर्धक है. और आपको बहुत पसंद आएगी.

तो दोस्तों जैसा हमारी आज की Post का नाम है .” हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए ” . तो आज हम उसमे देखेंगे की देसी खाना  क्या होता है . और ये हमारे शरीर के लिए क्यों लाभदायक है.

 

दोस्तों हम हिन्दुस्तानियो के घरो में सदियोसे खाने पीने का बहुत महत्व होता है. और खाना पीना भी कैसा शुध्द घी  से बनी खाने की चीजे हमे रोज खाने को मिलती थी. और खासकर हम  गांवो की बात करे तो वहा पर घरो मे गाय और  भैस होती थी. और शुध्द घी बनता था और छाछ  बनती थी. और उससे खाने से हम हस्ट – पुस्ट रहते थे तंदरुस्त रहते थे.

 

दोस्तों में आपको बताऊ की ” हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए ” क्यों की मैने देखा है. हमारे जो दादाजी होते है . और में आपको यहा एक बात बतादू की मेभी गांव से ही belong करता हु , तभी मुझे वहकि बाते पता है.

 

तो दोस्तों में आपको  बता रहा  था ‘ की जो हमारे दादाजी है. और गांव के बढ़े बूढ़े वो बताते है , की हमने जो हमारे बचपन में और हमारी जवानी में जो देसी चीजे खाई है. वो आज भी हमारे शरीर मेहे . मतलब उनका शरीर आज भी तंदरुस्त बना हुवा है , बजाय आज की पीढ़ी के और उनकी तुलना में किसी शहर के इंसान की तुलना करे तो शहर के इंसान से भी गांव का इंसान अधिक हस्ट  – पुस्ट  रहता है.

 

तो दोस्तों ” हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए ” उसके लिए में आज आपको बताऊ की आज के डोर   में हमे शुद्ध चीजे खाने को मिल ही नहीं रही है . जिसे देखो उस चीज में मिलावट चाहे ,दूध हो छाछ हो , या मिठाई हो या कुछ और यहा तक की सब्जिया भी मिलावट की होने लगी है . आप बोलोगे की सब्जिया कैसे तो दोस्तों आज – एक की सब्जियों में कीटनाशक  और दवाइया बहुत मात्रामें छिड़की जाती है. खेर ये बहुत बढ़ा topic है . जिसकी बादमे चर्चा करेंगे.

पर दोस्तों में आपको बतादू की आप चाहे गांव में रहो या शहर में हमे अपने खाने का ध्यान रखना होगा . दोस्तों एक और कहावत है “की खराब अधिक खाने से अच्छा है की हम शुद्ध चीज कम मात्रा में खाये .” और अपने आपको स्वस्थ रखे .

 

और दोस्तों आज – कल लोगो को बाहर खाने का बहुत शोक है . आज – कल लोग पिज्जा , बर्गर खाते है . और जाने कौन – कौन सी चीजे जो हमे बाहर मिलती है. और आपये भी नहीं जानते की हम जो खारहे है . वो कब से बना हुवा है. हम लोग उस पर उसकी तारीख भी नहीं देखते है . और हर  इंसान को खाने की जल्दी रहती है , उसकी शुद्धता की नहीं. की वो कितना शुद्ध है .

 

Also Read – हमे दुनिया मै क्या बाटना चाहिए

Also Read – सहयोग से ही सफलता मिलती है

Also Read – अपनी प्रतिभा को बाहर कैसे निकाले

Also Read – हम अपने देश को साफ कैसे करे

Also Read – बसन्त पंचमी क्या है और ये क्यों मनाई जाती है

 

और दोस्तों में इसमें पूरी गलती इंसानो की भी नहीं बताऊगा क्योंकि आज का दौर ही इतना fast होगया है . की इंसान को अपना  खाना  बनाने की फुरसत ही नहीं है. लोग अपने काम की भाग – दौड़ में इतना भी समय नहीं निकाल पाते की वो अपने लिए शुद्ध खाने की वस्तुए बना सके  बस आज का इंसान जैसे – तैसे अपना पेट भर रहा है .

 

दोस्तों हमे ” हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए ” क्योंकि जो हमारी देसी खाने की चीजे थी शुद्ध घी , दही , छाछ  , मक्खन या और भी कई सारी खाने की चीजे उनको खाने से हमारा शरीर  फिट रहेगा हस्ट – पुस्ट रहेगा जैसा मैने आपको अपने दादाजी का उदाहरण दिया था ,

 

Also Read – जीवन में पानी का महत्व

Also Read – कोन है – Mr PT क्या आप जानते है

 

क्योंकि हमे जीवन भर स्वस्त रहना है , और दोस्तों अगर हमे देसी चीजे खाने को नहीं भी मिले तो हमे ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए की हमे बाहर का बना हुवा कम से कम खाना पढ़े .

 

क्योंकि हमे जीवन भर अच्छा और Fit रहने के लिए बाहर की चीजे खाने से बचना चाहिए दोस्तों गांवो में तो आज भी देसी चीजे खाने को मिलती है.  पर शेहरो में नहीं तो गांव के इंसान तो आज भी Fit रहते है क्योंकि वो खेती में काम करते है .

 

और जो शहरों के लोग होते है वो job करते है तो उनकी मजबूरी बन जाती है.  बाहर का खाने की पर दोस्तों में आपको ये तो नहीं बता सकता की आप क्या खाये पर ये जरूर कहुगा ‘की बाहर का बहुत कम खाये और शुद्ध चीजे खाने की कोशिश करे और अपने शरीर को फिट रखे .’

 

तो दोस्तों आपको ये post ” हमे देसी खाना क्यों खाना चाहिए ” केसी लगी pliz हमे बताये और में आशा करता हु, की अब आपभी बाहर का खाना खाने से बिलकुल बचेंगे . और शुद्ध चीजे खायेगे नहीं मिले तो कम मात्रा में खाये और अपने आनेवाले बुढ़ापे को बिगड़ने से बचाएंगे.

 

और दोस्तों आपके पास अगर इस pust से Related कोई भी सुझाव हे. तो आप हम Comments के माध्यम से बता सकते है, हमे आपके Comments का इंतजार रहेगा.

 

धन्यवाद

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *