ऐसी कहानिया जो हमारी जिंदगी बदल दे

ऐसी कहानिया जो हमारी जिंदगी बदल दे – दोस्तों हम हमारे जीवन में बचपन से कई कहानिया सुनते आए है मुझे याद है, मै जब बचपन में था उस वक्त मुझे कहानिया सुनने का और टीवी पर देखने का बहुत शोक था. कहानियों का मीनिंग – विनिंग क्या होता था उससे मुझे उस वक्त कोई लेना देना नहीं होता था मुझे तो बस कहानी सुनने में बहुत interest आता था. और में समझता हु यह सिर्फ मेरे अकेले के साथ नहीं हुवा होगा यह समय हर इंसान के जीवन में आया है और यह समय याने बचपन का समय हर इंसान के लिए बहुत ही कीमती और बहुत ही अच्छा होता है.ऐसी कहानिया जो हमारी जिंदगी बदल देक्योकि इंसान का बचपन केवल आनंद लेने के लिए ही होता है उस वक्त हमे किसी प्रकार के ज्ञान की कोई जरवत नहीं होती थी और सच कहे तो हमे उस वक्त कोई ज्ञान समझ में भी नहीं आता था. मतलब हम सब कहानिया सुनते थे पर उस कहानी के पीछे का ज्ञान क्या  है ये हमे उस वक्त कभी नहीं पता चलता था. हम बचपन में कई तरह की कहानिया सुनते थे जैसे – राजा – रानी, चोर – पुलिस, जानवरो की कहानिया और कभी – कभी भूतो की कहानिया भी सुनते थे.

पर जैसा की मैने आपको बताया की हम उस वक्त बस कहानी सुनने से मतलब रखते थे उसके पीछे की शिक्षा से हमे कोई मतलब नहीं होता था. और हमारे में इतनी भी समझ नहीं होती थी की हम हमारे बड़ो से पूछे की इस कहानी के पीछे का ज्ञान क्या है या इस कहानी को सुनके हमे क्या शिक्षा मिलती है.

पर दोस्तों में आपको कहानी के बारे में एक बात बता देता हु, की कहानियों में बहुत ज्ञान होता है एक कहानी इंसान की जिंदगी बदल देती है और एक बात की कहानिया भी दो प्रकार की होती है, 1 – काल्पनिक, 2 – वास्तविक, और यह दोनों ही कहानिया बहुत शिक्षा प्रद होती है काल्पनिक कहानिया लोगो के मन से बनाई हुई होती है जो कई तरह की किताबो में लिखी होती है. और वास्तविक कहानी वो होती है जो किसी के जीवन से जुड़ी हो याने किसी इंसान का अनुभव जो किसी दूसरे इंसान को inspire करे मतलब हम महात्मा गाँधी के जीवन के बारे में पड़ते है और उससे शिक्षा लेते है तो यह हुई Real  Story  तो दोस्तों Story कोई सी भी हो हमे उससे शिक्षा जरूर लेना चाहिए और अपना जीवन बदलना चाहिए.

ऐसी कहानिया जो हमारी जिंदगी बदल दे”

तो दोस्तों अब हम इस पोस्ट में कुछ ऐसी कहानिया देखेंगे जो हमे कुछ कुछ शिक्षा देती है.

पहली कहानी –

बीरबल और तानसेन –

दोस्तों एक दिन बीरबल और तानसेन के बिच विवाद छिड़ गया वो दोनों अपने आप को एक दूसरे से ज्यादा गुणी बता रहे थे. तब बादशाह अकबर ने कहा की इस तरह तुम दोनों का विवाद नहीं मिट सकता इसके लिए किसी को मुखिया बनाकर अपना न्याय करलो.

महाराज; आपकी बाते शरोधर्य है, हम दोनों इस बात से सहमत है लेकिन हमे यह समझ में नहीं आरहा की हम मुखिया किसको बनाये. कृपया आप ही हमे इस विषय में राय दे – बीरबल ने कहा. तब बादशाह अकबर ने उन्हें महाराणा प्रताप के पास जाने की सलाह दी.

बीरबल और तानसेन दोनों महाराणा प्रताप के पास गए, तानसेन बहुत बड़ा गायक था उसने तुरंत एक रागिनी छेड़ दी – बीरबल अपने अवसर की प्रतीक्षा करते हुए खामोश बैठे रहे, उन्होंने देखा की तानसेन अपनी गायन विध्या से राणा को मोहित कर बाजी मारना चाहता है. तो बीरबल जल्दी ही बोले – राणा जी हम दोनों ही शाही दरबार से एक साथ चल कर आए है. और रास्ते में एक – एक मन्नत मांग चुके है.

मेरे कहने का मतलब यह है की – मैने पुष्कर जी में पहुंचकर प्रार्थना की है की आपके दरबार में मान प्राप्त करलु तो 100 गाये ब्राह्मणो को दान करूंगा. और मिया तानसेन ने ख्वाजा खिजर के दरबार में जाकर यह मुराद माँगी है की मै अगर राजा से प्रशंशा पत्र प्राप्त कर लू तो वह 100 गायो की क़ुरबानी कराऊंगा अब महाराज 100  गायो की जिंदगी और मोत आपके हाथ में है.

आप चाहे तो उन्हें जिंदगी दान दे या उनका वध कराये और अगर जिन्दा रखना है तो मुझे प्रशंशा पत्र दे और अगर 100  गायो को मरवाना है तो तानसेन को  दे दीजिये.

तब राणा ने तुरंत अकबर को पत्र लिखकर भेजा बीरबल नीतिज्ञ है. इनकी जितनी भी बड़ाई की जाये कम है और इस बात को सुनकर तानसेन ने अपनी हार स्वीकार कर ली और फिर अपने जीवन में कभी बीरबल से प्रतियोगिता नहीं करी.

हमे इस कहानी से क्या शिक्षा मिलती है –

दोस्तों यह बीरबल की कहानी हमे यह शिक्षा देती है की पहले तो हमे किसी से Competition नहीं करना चाहिए Competition  से हमारा मन और हमारा काम दोनों ही खराब होते है. और यदि जब हमे किसी कारण वश किसी से Competition करना पड़े तब ऐसा हमारे द्वारा कुछ काम न हो पाए जो किसी के लिए नुकसान दायक हो.

दूसरी कहानी –

बोलने का तरीका –

एक रात बादशाह अकबर को सपना आया की उसके सारे दाँत गिर गए है. और मुँह में केवल एक दाँत बचा है, सुबह होते ही अकबर ने एक प्रसिद्ध ज्योतिष को बुलाया और उससे सपने का रहस्य पूछा. कई ग्रंथो का अध्ययन करने के बाद ज्योतिष गंभीर हो गया और कहा बादशा सलामत आपका स्वप्न अच्छा नहीं है.

यह सुनकर बादशाह अकबर बोले – साफ – साफ कहो सपने का जो भी अर्थ है, बादशाह ने अपना मन कड़ा करते हुए कहा. ज्योतिष ने कहा आपके सभी दाँत गिर जाने का मतलब है आपके सभी सगे – संबंधी आपकी आँखों के सामने एक – एक कर मर जायेंगे. और आपका एक दाँत रह गया तो इसका मतलब है की आप अकेले रह जायेंगे.

ज्योतिष की बात सुनकर अकबर को बहुत घुस्सा आया उसने तुरंत ज्योतिष को महल के बाहर निकलवा दिया. और आज्ञा दी की कोई दूसरा ज्योतिष दरबार में आकर उनके सपने का अर्थ बताये. कुछ घंटो बाद ही एक दूसरा ज्योतिष आया वो बीरबल का भेजा हुवा था.

बीरबल ने उसे पहले ही समझा दिया था की वो अपनी बात किस ढंग से कहे. उसने बादशाह से उनका सपना पूछा, अकबर ने उन्हें अपना सपना सुना दिया. ज्योतिष थोड़ी देर तो अपने पोथे – पतरी पलटता रहा फिर काफी देर तक सोचकर बोला – आपका सपना तो बहुत अच्छा है “महाराज”

“आपके सभी सगे संबंधियों की उम्र से आपकी उम्र लम्बी है.” बहुत समय तक आप सुख से राज करेंगे और आपकी प्रजा भी सुखी होगी.

यह सुनकर अकबर बहुत खुश हुए उन्होंने ज्योतिष को ढेर सारा इनाम दिया और इनाम लेकर ज्योतिष अपने घर चला गया और यह सब बीरबल की सलाह द्वारा ही सम्भव हो पाया.

हमे इस कहानी से क्या शिक्षा मिलती है –

मित्रो हमे इस कहानी से बहुत अच्छी सिख मिलती है की इंसान का बोलने का या किसी को समझाने का तरीका कैसा है किसी का तरीका किसी को खुश भी कर सकता है और किसी का तरीका किसी को दुखी भी कर सकता है तो हमे इस कहानी से यह सिख लेनी है की यदि हमे किसी भी गरीब को कोई बात समझाने का मौका मिले तो हम उसे ऐसे समझाये की वो अपने सारे दुःख भूल जाये और उसके मन में खुशिया भर जाये.

तीसरी कहानी –

शेर आया शेर आया –

दोस्तों अब जो कहानी में आपको बताने वाला हु, उसे शायद आप सबने अपने बचपन में सुना होगा. की – एक लड़का रहता है वो जंगल में जाता है और वो उधर से लौटते वक्त चिल्लाते – चिल्लाते आता है की शेर आया शेर आया और लोग उसकी आवाज को सुनते है और अपने – अपने घरो से अपने हाथो में हथियार लेकर दौड़ पड़ते है. और जैसे ही लोग उस लड़के को बचाने आते है तब वो कहता है की नहीं कोई शेर नहीं आया मेतो मजाक कर रहा था और उसकी बाटे सुन कर सब लोग अपने – अपने घर चले जाते है.

फिर दो – चार दिन बाद वापस लड़का अपने घर से जाता है और जंगल से लोटे वक्त उसने फिर आवाज लगाना शुरू कर दिया की शेर आया शेर आया तो गांव के लोग पुनः उसकी आवाज सुनकर अपने हाथो में हथियार लेकर उस लड़के को बचाने चले आये और जैसे ही लोग उस लड़के के पास पहुंचते है, तो लड़का पुनः हसने लगता है और कहता है कोई शेर नहीं आया मेतो बस मजाक कर रहा था.

पर मित्रो इस बार लड़के की बाते सुनकर गांव वालो को बहुत बुरा लगा और वो सब क्रोध वश अपने – अपने घर लोट गए.

फिर कुछ दिन बीते और वो लड़का पुनः जंगल की तरफ गया और जब वापस गांव की तरफ लौटने लगा तब उसके पीछे वास्तविक शेर खड़ा था डर के मारे उसकी जान निकल गयी और उसने दौड़ लगाना शुरू किया और वो धीरे – धीरे गांव के नजदीक पहुंचा और उसने आवाज लगाना शुरू किया की शेर आया शेर आया….. पर मित्रो इस बार कुछ विचित्र हुवा उस लड़के की आवाज गांव वालो ने सुनी तो सही पर उसकी आवाज को सुनकर कोई भी उसे बचाने अपने घर से नहीं आया और अन्त में शेर ने लड़के को पकड़ लिया और उसे अपना भोजन बना लिया.

हमे इस कहानी से क्या शिक्षा मिलती है –

तो दोस्तों हम बचपन से इस कहानी को सुनते आये है पर हमने कभी इसके अर्थ को नहीं जाना पर अब हमे इस कहानी का अर्थ समझ में आया है- की इंसान को कभी किसी से हद से ज्यादा मजाक नहीं करना चाहिए कोई भी इंसान हम पर सिर्फ एक या दो बार विश्वास करता है. पर जब हम किसी से बार – बार झूठ बोलते जाते है तो लोगो की नजरो में हमारे ऊपर से विश्वास उठ जाता है और हम पर कोई भी भरोसा नहीं करता तो हमे हमेशा उतना ही मजाक या झूठ बोलना चाहिए की जितना लोगो को पसंद आये और लोगो का हम पर विश्वास भी बना रहे.

तो दोस्तों यह थी कुछ कहानिया जो हम हमारे बचपन से सुनते आये है और जो हमे नैतिक शिक्षा देती है. मित्रो आज भी हम कई कहानिया सुनते है और सच्ची कहानिया देखते भी है कुछ तो हमारे आस – पास भी होती रहती है पर मुद्दे की बात बस यही है की हमे इन सब कहानियों से सिख लेना है और अपने जीवन को और अधिक बेहतर करते जाना है.

तो Friends यह थी post  “ऐसी कहानिया जो हमारी जिंदगी बदल दे” तो मित्रो मुझे लगता है आपको यह post  बहुत अच्छी लगी होगी और इसे पढ़कर आपको भी अपने बचपन की कुछ कहानिया जरूर याद आती होगी और आप इस post  से संबंधित अपने विचार हमे Comments के माध्यम से भेज सकते है.

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.