तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है 

तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है  – दोस्तों  आज  में  ये  post thoughtking पर  आपके  लिए  लाया  हु  जो  आपको  बहुत  ही  पसंद  आएगी  इसे  पढ़कर  आप  बहुत  लाभान्वित  होंगे .

 

तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है 

 

दोस्तों  जैसे  हमारी  आज  की  post का  नाम  है  –  तरीका  क्या  है  और  सलीका क्या  है .

 

क्या  होता  है  तरीका  और  क्या  होता  है  सलीका  दोस्तों  तरीका   और  सलीका  दोनों  इंसान  के  गुण  होते  है.  जो  सभी  में  पाए  जाते  है  ये  होना  बहुत  जरूरी  है .

 

तो  जैसा  मैने  आपको  कहा  की  तरीका  और  सलीका  हर  इंसान  में  होता  है  . पर  ऐसा  नहीं  है  कुछ  लोगो  में  ना  तरीका  होता  है  और ना  सलीका   होता  है  . बस  वो  अपनी  जिंदगी  युही   जीते  चले  जाते  है .

 

दोस्तों  सीधे  शब्दों  में  अगर  में  बताऊ  तो  तरीका  वो  होता  है . की  इंसान  जीवन  में  अपना  काम  कैसे  करता  है . वो  लोगो  को  पसंद  आता  है  या  नहीं  क्या  हम  जो  काम  जिस तरिके से  करते  है  उसमे  काम  सफल  होता  है  यह   तरीका  है .

 

और  दोस्तों  सलीका  क्या  है  . इंसान  अपनी  life कैसे  बिताता  है  उसका   लोगो  के  प्रति  व्यवहार  केसा  है . हम  लोगो  से  कैसे  बात  करते  है . उनकी  कैसे  respect करते  है  . क्या  हमसे  बात  करना  लोगो  को  पसंद  आता  है  यह   सलीका   है .

 

तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है :

 

इसलिए  दोस्तों  जीवन  में  तरीका  और  सलीका  दोनों  की  बहुत  जरूरत  है .

 

दोस्तों  इंसान  जीवन  में  ऐसे  – ऐसे  काम  करता  है  नातो  उसमे  उसका  तरीका  ठीक  होता है  और  नहीं  उसका  सलीका  ठीक  होता  है .

 

दोस्तों  दुनिया  में  उन  ही  लोगो  को  लोग  याद  करते  है  . जिनका  काम  और  व्यवहार  लोगो  के  प्रति  अच्छा  होता  है . और  जो  अपने  काम  से  और  अपने  व्यवहार  से  लोगो  में  छाप  छोड़ते  है .

 

इसे भी पढ़े –जीवन में मनोरंजन क्यों जरूरी है

 

और  जिनका  तरीका  और  सलीका  ठीक  नहीं  उन्हे  लोग  याद  नहीं  करते  उनके  बारे  में  कोई  नहीं सोचता  मानलो

 

किसी  आदमी  को  कोई  काम  करने  को  दिया  पर  उसने  काम  को  जिस  रतिके  से  किया  तो  वो  काम  सामने  वाले को  पसंद  नहीं  आया  तो  उसका  काम  का  तरीका  ठीक  नहीं  है  .

 

और  वैसी  ही किसी इंसान का दूसरे इंसान के   प्रति  व्यवहार  केसा   है   अगर  हम  किसी  से  बात  कर  रहे है  तो  हमारी  बातो  से  सामने  वाला  impress हो रहा  है  या  बोर  हो रहा  है .

 

अगर  कोई  हमारी  बातो  से  बोर  हो रहा  है  तो  समजलो  हमारी  बात  करने  का  सलीका  ठीक  नहीं  है .

 

इसे भी पढ़े –जीवन में संघर्ष क्यों जरूरी है

 

और  दोस्तों  सलीका  केवल  बात  करने  में  ही  नहीं  जीवन  में  कई  जगह  सही  रखना  पढ़ता  है  जिससे  हमारी  लोगो  में  इज्जत  बनी  रहे .

 

जैसे  हम  कैसे  चलते  है  , कैसे  बैठते  है ,कैसे  देखते  है , और  हर  वो  काम  जो  हम  अपने  जीवन  में  करते  है  सब  में  एक  सलीके   की  जरूरत  होती  है  .

 

दोस्तों  अगर  हमारा  चलना  ठीक नहीं है  अगर  हम  अजीब  तरिके  से  चलते  है  तो  लोग  उसमे  भी  हमको  बोलोगे  की  ये  केसा  चलता  है  इसका  चलने  सलीका  सही नहीं   ही  है .

 

और  हम  कैसे  बैठते  है  मानलो  आप  किसी  party में  गए  वहा  कुर्सियां  लगी  हुई  है  और  वहा  आप  ऐसे  अजीब  तरिके  से  पैर  रखके  बैठे  की  लोग  आपके  बारे  में  बात  करते  है  की  देखो  इसको  सही  बैठना  भी  नहीं  आता .

 

इसे भी पढ़े –कोन है – Mr PT क्या आप जानते है

 

और  दोस्तों  देखने  का  सलीका  तो  सबसे  जरूरी  है . उसमे  तो  हमे   सबसे  ज्यादा  बचना  चाहिए  मानलो  हम  किसी  की  तरफ  किस   नजर  से  देखे  और  सामने  वाला  उसका  क्या  मतलब  निकाल  ले  पता  नहीं  .

 

और  दोस्तों  में  भी  इस  दोर से  गुजर   चूका   हु .

 

दोस्तों  आपको  ऐसे  बताता  हु   की  हमारी  नजरो  का   सलीका   ऐसा  होना चाहिए  की  सामने  वाला  लड़का  या  लड़की  या  कोई  और  युना   समझे    की  ये  हमे  घुर  रहा  है . और  बाद में  हमे  दिक्क्त   हो  जाये .

 

इस लिए  हमे  देखने  का  सलीका  भी  सुधारना  है .

 

और  दोस्तों  तरीका  भी  हमे  जीवन  में  हर कदम  पर   सही  रखना  है . मेरे  हिसाब  से  हम  अपना  काम  करने  का  तरीका  ऐसा  रखे  की  लोगो  को  हमारा  तरीका  पसंद  आए और  लोग  हमारे  तरिके  को  follow करे  तभी  हमारा

 

तरीका  सही  होगा  दोस्तों  दुनिया  में  ऐसे  कई  लोग  है  जिनके  कामो  से  हम  inspier  होते  है  . वो  जैसा  करते  हम  भी  वैसा  करना  चाहते  है .

 

तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है

 

तो  हमे  दोस्तों  सब  से  सिख  – सिख  कर  अपना  खुद  का  ही  एक  ऐसा  तरीका  Set  करना  है . की  लोग   आपके  बारे  में  भी  बात  करने  लगे  दोस्तों  दुनिया  में लोगो  को  काम से ही याद  किया  जाता  है  . इस  लिए  में  आपसे  कहुगा  की  ऐसा  काम  करे  की  लोग  आपको  याद  करे  और  आपको  follow करे .

 

तो  दोस्तों  आपको  ये  post तरीका  क्या  है  और  सलीका  क्या  है  केसी  लगी  में  आशा  करता  हु . की  आपको  इस  post से  बहुत  सिखने  को  मिलेगा  और  आप भी  अपना  तरीका  और  सलीका  सुधारेंगे  .

 

और  दुनिया  में  एक   मिसाल  पेश  करेंगे . आप  हमे  post  से  related अपने  comments हमे  बता  सकते  है  हमे  आपके  comments का  इंतजार  रहेगा .

 

धन्यवाद

विजय  पटेल

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *