आप आगे बढ़े पर पीछे भी देखते चले

आप आगे बढ़े पर पीछे भी देखते चले – मित्रो हम इंसानो की Life के एक उसूल हे की इसमें आगे बढ़ना बहुत जरूरी है मतलब जिंदगी को हमेशा चलायमान रखना होता है हम कभी एक जगह नहीं रहते याने अपने काम में या अपनी पोजीशन में या किसी और बात में समय के साथ – साथ सब Change होता रहता है पर कई लोगो की यह आदत होती है की वो अपना पुराना समय भूलते जाते है की उन्होंने अपना पुराना समय कैसे बिताया किन – किन लोगो ने जिंदगी में उनका साथ निभाया था हमे आगे बढ़ते हुए इन सब बातो का भी ध्यान रखना होगा आज हम इस post में Detail में इस विषय को देखेंगे. आप आगे बढ़े पर पीछे भी देखते चलेदोस्तों  क्या  आपको  पता  है   इंसान   में  एक   आदत  होती  है  , जो  बिलकुल  भी  अच्छी  नहीं  होती  है  , और  वो  क्या  होती  है .

वो  आदत  ये  हे  की  इंसान  जितना  आगे  बढ़ता  जाता  है  , लेकिन वो   पीछे  नहीं  देखता  है .  हम  आप  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले  , पर  इंसान  ऐसा  नहीं  करता  है  , वो  अपने  पीछे  की  चीजों  को  भूलता  जाता  है , दोस्तों  हमे  उन  सब चीजों  को  भी  देखना  चाहिए  जिसकी   वजह से  हम  आगे  बढ़े  है !

कई  लोग  होते  है  , जो  अच्छी  – अच्छी  position पे  पहुंच   जाते  है  , अच्छी  companies में  पहुंच  जाते  है  , business  में  आगे  बढ़जाते  है  , जीवन  में  खूब  तरक्की  करते  है  , पर  वो  लोग  अपने  पीछे  नहीं  देखते  वो  उन  लोगो  को  भूल  जाते  है .

जिनकी  वजह  से  वो  आगे  बढ़े  है  , चाहे  वो  कोई  , इंसान   भी  हो सकते  है  , या  कोई  companies भी  हो  सकती  है  , मतलब  कोई  भी  हो सकता  है  , तो  हम  आप  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले !

आप आगे बढ़े पर पीछे भी देखते चले”

दोस्तों  हम  आप  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले , इसके  बारे  में  अब  आपको  कुछ  जनरल  उदाहरण  देता  हु  , जिससे  आपको  समझ  में  आएगा  ! मानलो  कोई  school का  बच्चा  है  बच्चे  पढ़ाई   करते  है  , पर  कोई  – कोई  बच्चे  होते  हे  वो  ऐसा  करते  हे  जो  class में  teacher पढ़ाते  है  , उसे  याद  रखते  है .

और  पीछे  की  classes में  जो  पढ़ाया  था  , उसे  भूलते  जाते  है  , इससे  दोस्तों  वो  कम  सीखेंगे   , पर  में  ये  भी  नहीं  बोलता  की  बच्चा   पिछेका  लेके  बैठा  रहे  , पर  पिछेका  revision करता  रहे  ,  इससे  वो  कोई  चीज  भूलता  नहीं  है  !

Read More-अपने आप को पहचाने

और  दोस्तों  ऐसे  ही  दूसरा  , अगर  कोई  इंसान  private या  सरकारी  job करता  है  , तो  उसने  भी  अपने  शुरुआती  दिनों  में  कितना  straggle किया  है  , किन  – किन  लोगो  ने  उसका  साथ  दिया  है  , उसको  उसे  नहीं  भूलना  चाहिए  , हम  शुरुआती   दौर  में  नए  रहते  हे  , हमे   कोई  काम  भी  नहीं  आता  है  , लेकिन  ऐसे  कई  लोग  होते  है  जो  हमे  आगे  बढ़ने  में  मदद  करते  है  तो  हमे  उनको  भी  देखते  हुवे  चलना  है  !

दोस्तों  हम  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले  – इसमें  हमारे  काम  का  भी  बहुत  रोल  रहता  है  , मानलो   आप  किसी  company में  manager बन  गए  और  manager को  ज्यादा  काम  तो  नहीं  करना  पढ़ता  है  , पर  दोस्तों  जैसा  मेरा  experience हे  कई  बार  ऐसा  समय  भी  आता  हे  जब  manager को  भी  काम  करना  पढ़ता  है .

तो  हमें  उस  लेवल  पर  पहुंचने  के  बाद  भी  अपने  work को  नहीं  भूलना  चाहिए  हमे  पीछे  भी  देखते  हुए  अपना  रिविज़न  करते  रहना चाहिए  जैसा बच्चा  रिविज़न  करता  है . वैसे  हमे  भी  अपने  work का  रिविज़न  करना चाहिए तभी  हम आगे  बढ़  के  भी  सेफ  रहेंगे  !

और  दोस्तों  में  आपको  बताता  हु  ,  जिस  प्रकार  हम  अपनी  personal  बाटे  याद  रखते  है  , जैसे  हमारी  बचपन  की  बाटे  कोई  हमारा  दोस्त  . हम  झा  रहते  थे  उसके  अस – पास  की  जगहे   जहा  हम  अपने  दोस्तों  के  साथ  time spend करते  थे  . और  भी  ऐसी  कई  यदि  है  जो  personally  हम  याद  रहती  है  . उसी  चीज  को  हम professionally भी  follow करना  होगा  !

Read More-किसी का दिल ना दुखाये

दोस्तों  अगर  हम   आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले  , तो  इससे  हमे  फायदे  भी  है  –  जैसे  हम  अगर  अपने  पुराने  साथियो  colics   के  साथ  अटैच  में  रहेंगे  , उनसे  हमेशा  बात  करेंगे  तो  वो  भी  आपको  किसी  वक्त  तकलीफ  आने  पर  आपके  काम  आते  रहेंगे  , क्योकि  आप  भलेही  कितने  भी  आगे  बढ़  जावो  पर  हम   हमारे  पीछे  वाले  लोगो  को   साथ  लेके  चलना  है  !

दोस्तों  में  आपको  एक  और  simple उदाहरण  देता  हु  , जैसे  मानलो  आप  कही  घूमने  जाते  है   . और  वो  जगहे  आपके  लिए  एक  दम  नई  है  , तो  हम  क्या  करते  है  . रास्ते  भर  आते  – आते  जो  –  जो  जगहे  आती  है  , उनको  देखते  जाते  है  . तो  हम  ऐसा  क्यों  करते  हे .

क्योकि  हम  हमारे  place पे  पहुंचने  पर  रास्ता  नहीं  भूले  , कोई  जरूरत  पढ़े  तो  हम  वापिस  पीछे  चले  जाये  हमे  पीछे  की  सब  चीजे  याद  हो  , और  आगे  हम  अगर   चीजों  को  याद  नहीं  रखेंगे   तो  हम  दुबारा  नहीं  जा  पाएंगे  हम  अकेले  पढ़  जायेगे इसलिए  आप  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले  !

दोस्तों  भलेही  आप  प्रोफेशनली   या  बिजनेस  में  या  किसी  भी  काम  में  कितने  भी  आगे  चले  जाव  पर  कभी   न  कभी  हमे  ऐसा  वक्त  जरूर  आता  है . की  हमे  अपने  पुराने  साथियो  , अपने  पुराने  काम  की  भी  जरूरत  पढ़ती  है  . इसलिए  दोस्तों   आप  आगे  बढ़े  पर  पीछे  भी  देखते  चले !

तो  दोस्तों  आपको  ये “आप आगे बढ़े पर पीछे भी देखते चले”  post केसी  लगी  pliz मुझे  बताये  मुझे  आपके  comments का  इंतजार  रहेगा.

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.